Sports

ब्रिसबेन : दुनिया के नंबर एक टेनिस खिलाड़ी नोवाक जोकोविच का आस्ट्रेलिया में वीजा रद्द होने पर विभिन्न प्रतिक्रियायें इस प्रकार है। बीस ग्रैंडस्लैम एकल विजेता रफेल नडाल ने कहा कि नियमों का पालन नहीं करने की सजा दुनिया भुगत ही रही है। विश्व रैंकिंग में दूसरे स्थान पर काबिज टेनिस खिलाड़ी दानिल मेदवेदेव कि यदि उसके पास नियमों से वैध छूट थी तो उसे यहां होना चाहिए। अगर नहीं है तो नहीं। 

सर्बिया के राष्ट्रपति अलेक्जेंडर वुचिच कहा कि मैने नोवाक को बताया कि पूरा सर्बिया उनके साथ है और हम पूरी कोशिश कर रहे हैं कि दुनिया के सर्वश्रेष्ठ टेनिस खिलाड़ी की इस तरह प्रताड़ना पर तुरंत रोक लगे। आस्ट्रेलिया ओपन के पूर्व टूर्नामेंट निदेशक पॉल मैकनामी कि उसने नियमों के अनुसार खेला, उसे छूट मिली, वह नौ बार का चैम्पियन है। लोगों को पसंद आये या नहीं लेकिन वह ‘फेयरप्ले' का हकदार है। वह नियम नहीं बनाता। उसे ‘कोर्ट ' पर होना चाहिए, ‘कोर्ट' में नहीं।

जोकोविच के कोच और 2001 विम्बलडन चैम्पियन गोरान इवानीसेविच : ‘‘आस्ट्रेलिया की एकदम अलग तरह की यात्रा। आस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मौरिसन ट्विटर पर : जोकोविच का वीजा रद्द हो चुका है। नियम आखिर नियम है, खासकर जब बात सीमा की हो। कोई भी नियमों से ऊपर नहीं है। हमारी कड़ी सीमा नीतियों की वजह से ही आस्ट्रेलिया में कोरोना मृत्युदर कम है। हमें सतर्क रहना होगा। 

उक्रेन के टेनिस खिलाड़ी सर्जी शखोवस्की ट्विटर पर : ‘‘अगली बार से कोई आपसे बोले कि खेल और राजनीति को अलग रखना चाहिये तो छह जनवरी 2022 को याद रखना जब विशुद्ध राजनीतिक अहंकार की वजह से दुनिया के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी को ऐसे देश में प्रवेश नहीं दिया गया जहां सरकारी संस्थानों को प्रवेश मिल रहा था। अमेरिकी टेनिस खिलाड़ी टेनिस सैंडग्रेन ट्विटर पर : ‘‘ एक बात साफ है कि दो अलग अलग मेडिकल बोर्ड ने उसे छूट देने को मंजूरी दी। अब राजनेता इसे रोक रहे हैं।आस्ट्रेलिया ग्रैंडस्लैम की मेजबानी का हकदार ही नहीं है। 
 

.
.
.
.
.