Sports

खेल डैस्क : जालन्धर में पड़ते नकोदर के गांव मल्लियां कलां में कबड्डी टूर्नामेंट के दौरान मशहूर कबड्डी खिलाड़ी संदीप सिंह नंगलअंबियां की गोलियां मारकर हत्या कर दी गई। 38 साल के नंगलअंबियां कबड्डी के कारण दुनिया भर में जाने जाते थे। वह मल्लियां कलां में टूर्नामेंट में आए थे जहां उनका प्रबंधन कमेटी ने सम्मान किया था। सम्मान लेने के बाद नंगलअंबियां जैसे ही वापस जाने के लिए अपनी कार के पास पहुंचे वहां स्विफ्ट गाड़ी में मौजूद 4-5 अज्ञात लोगों ने ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। नंगलअंबियां ग्रुप को संभलने का मौका नहीं मिला। गोलियां नंगलअंबियां के सिर और छाती पर लगी जिससे वह मौके पर ही गिर गए। 

Kabaddi player Sandeep Nangalambian, Sandeep Nangalambian died, Mallian Kallan Kabaddi Tournament, Sandeep Nangalambian, संदीप सिंह नंगलअंबियां

नंगलअंबियां को उनके फैंस ने जख्मी हालात में अस्पताल भर्ती कराया लेकिन सिर में गोली लगने और ज्यादा खून बह जाने के कारण उनकी मौत हो चुकी थी। अस्पताल प्रबंधन ने प्राथमिक जांच के बाद ही उसे मृत घोषित कर दिया था। नंगलअंबियां की मौत के बाद ही उनके प्रशंसकों व साथी रोष में देखे गए। देखते ही देखते हजारों की संख्या में लोग अस्पताल पहुंच गए। घटना की सूचना मिलते ही एसएसपी देहाती सतिंदर सिंह और डीएसपी लखविंदर सिंह मल्ल मौके पर पहुंच गए। मामले की जांच जारी है। 

16 साल का लड़का भी जख्मी

Kabaddi player Sandeep Nangalambian, Sandeep Nangalambian died, Mallian Kallan Kabaddi Tournament, Sandeep Nangalambian, संदीप सिंह नंगलअंबियां
घटनाक्रम में जब अफरा-तफरी मची तो फायरिंग के दौरान एक 16 साल का रोहित भी जख्मी हो गया। बच्चे ने बताया कि अचानक फायरिंग होने से वह डर गया था। इससे पहले वह स्थिति समझता उसने भागने की कोशिश की। लेकिन तभी एक गोली आकर उसकी टांगों पर लगी। 

कौन थे संदीप नंगलअंबियां

Kabaddi player Sandeep Nangalambian, Sandeep Nangalambian died, Mallian Kallan Kabaddi Tournament, Sandeep Nangalambian, संदीप सिंह नंगलअंबियां
संदीप नंगलअंबियां पंजाब कबड्डी का बड़ा सितारा है जोकि गांव स्तर से इंटरनैशनल स्तर पर नाम कमा चुके हैं। अकाली दल की सरकार में शुरू हुई कबड्डी विश्व कप में भी उनकी सक्रिय भूमिका रही थी। इसके अलावा विदेशों में होते बड़े कबड्डी टूर्नामेंट में भी वह बड़ा सितारा बन चुका था। नंगलअंबियां ही इंगलैंउ की कबड्डी टीम का कप्तान था जिसमें काफी संख्या में पंजाबी मूल के नौजवान थे। वह पंजाब में आकर भारत की ओर से तो इंटरनेशनल स्तर पर इंगलैंड की ओर से कबड्डी खेलते थे। कबड्डी में वह कई बार बेस्ट जाफी का रिकॉर्ड भी बना चुके थे। 

लॉ एंड ऑर्डर की धज्जियां उड़ीं
मल्लियां कलां में जहां कबड्डी टूर्नामेंट हुआ वहां पर पुलिस प्रशासन भी मौजूद था। घटनाक्रम के बाद कार सवार युवक आए और नंगलअंबियां की हत्या कर बिना परेशानी के निकल भी गए। देर शाम तक कार सवार युवकों का कुछ पता नहीं लग पाया था। सरेआम गोलियां चलने से प्रशासन के लॉ एंड  ऑर्डर भी सवाल खड़े हो गए हैं।

पुलिस खंगाल रही सीसीटीवी फुटेज
एसएसपी देहाती सतिंदर सिंह ने बताया कि स्विफ्टकार में 4 लोग आए थे।  लोगों से पूछताछ की गई है क्योंकि घटना गांव में हुई है ऐसे में सीसीटीवी  फुटेज निकालने में परेशानी हो रही है। उम्मीद है कि जल्द मल्लियां कलां की ओर आते सभी रास्तों पर लगे सरकारी या निजी सीसीटीवी कैमरों से फुटेज लेकर आरोपियों को पकड़ा जाएगा।

रंजिश के चलते गुंडागर्दी का हुआ नंगा नाच
खिलाड़ी अक्सर रंजिश का शिकार होते रहे है। खास तौर पर कबड्डी खिलाडिय़ों के लिए चयनित क्षेत्रों से बाहर जाना भी कई बार घाटे का सौदा हो जाता है। आम तौर पर विरोधी क्लब के कबड्डी प्लेयरों को दूसरे के क्षेत्र में आने से दूसरे स्टार खिलाड़ी रोकते हैं। इसके लिए गैंगस्टरों की भी मदद ली जाती है। अक्सर कबड्डी खिलाड़ी ऐसी धमकियों से बचने के लिए गैंगस्टर के साथ दोस्ती बढ़ा लेते हैं। ऐसे ही उनकी जुर्म की दुनिया में एंट्री हो जाती है। प्रतिबंधित काम करने के चलते खिलाडिय़ों के अक्सर कई दुश्मन बन जाते हैं ऐसे ही दुश्मन ने सोमवार को संदीप नंगलअंबियां की जान ले ली। 

.
.
.
.
.