Sports

दाम्बुला : भारतीय महिला टीम ने दाबुला के मैदान पर श्रीलंका के खिलाफ खेला जा रहा पहलाा टी-20 मुकाबला 34 रन से जीत लिया है। भारत ने पहले खेलते हुए जेमिमा रोड्रिगेज के 27 गेंद में तो शैफाली वर्मा के 31 रनों की बदौलत 138 रन बनाए थे। जवाब में श्रीलंकाई टीम 10 ओवरों में पांच विकेट खोकर 104 रन ही बना पाई। केविशा दिलहारी ने 49 गेंदों में 6 चौकों की मदद से 47 रन बनाए। भारतीय गेंदबाज राधा यादव ने 2 तो दीप्ति, पूजा और शैफाली वर्मा ने 1-1 विकेट लिया।

भारत की सभी प्रारूपों की नई कप्तान हरमनप्रीत कौर ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी का फैसला किया लेकिन उनके बजाय श्रीलंका ने स्वप्निल शुरूआत की। भारत ने सलामी बल्लेबाज स्मृति मंधाना (01) का विकेट पारी के तीसरे ओवर में ही खो दिया। 25 साल की भारतीय खिलाड़ी हाथ खोलने के प्रयास में अनुभवी ओाशादी का शिकार बनीं। वह शॉट खेलने की कोशिश में गेंद सीधे मिडऑन पर खड़ी चामरी अटापट्टू को कैच दे बैठीं। 

 

सभिनेनी मेघना एक भी रन नहीं जोड़ सकीं और अनुभवी राणासिंघे ने उन्हें ड्रेसिंग रूम में भेज दिया। गर्म और उमस भरे हालात में शुरू में ही दो विकेट गंवाने के बाद टीम पर दबाव साफ दिख रहा था। हरमनप्रीत और शेफाली वर्मा की जोड़ी ने इस नाजुक स्थिति को संभाला। शेफाली (31 रन) आउट होने वाली तीसरी खिलाड़ी रही जिन्हें अटापट्टू ने अपना शिकार बनाया जब वह बड़ा शॉट खेलने का प्रयास कर रही थीं। 

श्रीलंकाई गेंदबाजों ने अच्छी गेंदबाजी कर सुनिश्चित किया कि उन्हें जल्द ही बड़ा विकेट मिल जाए और ऐसा हुआ भी जब कप्तान हरमनप्रीत (22) 11वें ओवर में स्पिनर इनोका राणावीरा की गेंद पर पगबाधा आउट हुई। राणावीरा ने दो और विकेट अपने नाम किये, उन्होंने विकेटकीपर बल्लेबाज रिचा घोष (11) और पूजा वस्त्राकर (14) के विकेट लेकर मेहमान टीम के 17 ओवर में छह विकेट झटक लिए थे जबकि उसका स्कोर महज 106 रन था। 

 

टीम में वापसी कर रही रोड्रिगेज ने भारत को सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाने की जिम्मेदारी बखूबी निभाई। पांचवें नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरी रोड्रिगेज दबाव में नहीं आई और उन्होंने टीम के लिए अहम रन जुटाए। उन्होंने तीन चौके और एक छक्का जमाया और दूसरे छोर पर दीप्ति शर्मा ने आठ गेंद में 17 रन जोड़े। 

.
.
.
.
.