Sports

अबुधाबी : यूएई में विकेट दिन प्रतिदिन धीमी होती जा रही हैं लेकिन मुंबई इंडियन्स के मुख्य कोच महेला जयवर्धने अपने टीम में अधिक तेज गेंदबाजों को ही खिलाना चाहते हैं। काफी टीमें अपने स्पिनरों पर निर्भर करने लगी हैं क्योंकि विकेट पर गिरने के बाद गेंद अब थोड़ा रुककर आने लगी है जिससे बल्लेबाजों को टाइमिंग की जगह शॉट लगाने के लिए ताकत का इस्तेमाल करना पड़ रहा है।

यह पूछने पर कि क्या कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ इंडियन प्रीमियर लीग मैच से पूर्व वह अपनी रणनीति पर पुनर्विचार करेंगे, जयवर्धने ने कहा, ‘मैं अभी ऐसा नहीं कह सकता क्योंकि टूर्नामेंट में अब भी तेज गेंदबाजों को बड़ी भूमिका निभानी है- यह चाहे पावरप्ले हो या बीच के ओवर या डेथ ओवर।' उन्होंने कहा, ‘इसलिए जब तक वे योगदान दे रहे हैं संतुलन बनाए रखने का प्रयास कर रहा हूं, अगर वे विरोधी टीम के बल्लेबाजी क्रम को ध्वस्त कर रहे हैं तो यह मायने नहीं रखता कि हम कैसी सतह पर खेल रहे हैं।' 

श्रीलंका के इस पूर्व बल्लेबाज ने कहा कि जसप्रीत बुमराह की अगुआई में उनका तेज गेंदबाजी आक्रमण विश्व स्तरीय है और उनके लिए पर्याप्त मौके बना रहा है। जयवर्धने ने कहा, ‘‘हमारे पास काफी अच्छे स्पिनर हैं जो अभी अंतिम एकादश में खेल रहे हैं। कुछ खिलाड़ी बेंच पर बैठे हैं जिन्हें हम निश्चित समय और मैचों में मौका दे सकते हैं। अगर हालात अनुकूल हुए तो हम इस पर गौर कर सकते हैं लेकिन अभी मैं अपने संयोजन और प्रदर्शन से खुश हूं।'

मुख्य कोच ने साथ ही बताया कि आस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज जेम्स पेटिनसन को कप्तान रोहित शर्मा के जोर देने पर टीम में शामिल किया गया। मुंबई की टीम ने अब तक टूर्नामेंट में दबदबा बनाया है और अपने सात में से पांच मैच जीते हैं जिसमें से चार उसने लगातार जीते लेकिन जयवर्धने को पता है कि वे किसी भी समय ढिलाई नहीं बरत सकते। 

.
.
.
.
.