Sports

भुवनेश्वर : भारतीय हाकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह का कहना है कि मौकों को गोल में बदलना एफआईएच सीरीज फाइनल्स में बेहद महत्वपूर्ण होगा। यहां छह जून से शुरू हो रहे एफआईएच सीरीज फाइनल्स से भारत तोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर सकता है। टूर्नामेंट की अहमियत पर मनप्रीत ने कहा कि भारतीय खिलाड़ी अधिकांश मौकों को भुनाने की कोशिश करेंगे। उन्होंने कहा कि पिछले कुछ समय में भारतीय टीम को अहम मैचों में मौकों को भुनाने में जूझना पड़ा है।

मनप्रीत ने संवाददाताओं से कहा- यह टूर्नामेंट हमारे लिए महत्वपूर्ण है क्योंकि इसके जरिए हम ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर सकते हैं। इसलिए हम एक बार में एक मैच पर ध्यान लगा रहे हैं। हमारा ध्यान आत्मविश्वास हासिल करने, अच्छा प्रदर्शन करने और अच्छे स्कोर से जीत दर्ज करने पर है। उन्होंने कहा- हम मौकों का फायदा उठाना चाहते हैं और इन्हें गोल में तब्दील करना चाहते हैं और साथ ही डिफेंस को मजबूत करना चाहते हैं।

अनुभवी डिफेंडर बिरेंद्र लाकड़ा को टीम का उप कप्तान बनाया गया है जो अपने घरेलू मैदान पर खेलेंगे। लाकड़ा के अनुसार टीम में अनुभवी और युवा खिलाडिय़ों का अच्छा मिश्रण है। उन्होंने कहा- गोल करने और अंतिम मिनटों में विरोधी टीम को गोल करने से रोकने में समस्या आई है। नया कोच वीडियो विश्लेषण के जरिए हमें इस समस्या को समझने में मदद कर रहा है।

.
.
.
.
.