Sports

बर्मिंघम : इंग्लैंड के अनुभवी तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन के अनुसार यहां चल रहे पांचवें टेस्ट में भारत की मजबूत वापसी से उनकी टीम को भी इसी तरह वापसी का भरोसा मिलेगा। एंडरसन ने साथ ही जोर दिया कि मेहमान टीम आक्रामक खेलना जारी रखेगी। दूसरे दिन के खत्म होने तक इंग्लैंड की आधी टीम पवेलियन लौट चुकी थी और उसका स्कोर पांच विकेट पर 84 रन था। इससे वह भारतीय टीम से अब भी 332 रन से पिछड़ रही है। भारतीय टीम भी शुरूआती दिन कुछ इसी तरह की स्थिति में थी और उसका स्कोर पांच विकेट पर 98 रन था। 

एंडरसन ने दूसरे दिन के खेल के बाद कहा, ‘हम भी उनकी तरह की स्थिति में हैं जिससे हमें भरोसा है कि हम भी ऐसा ही कुछ कर सकते हैं।' भारत के लिए ऋषभ पंत (146) और रविंद्र जडेजा (104) ने शतक जड़कर और छठें विकेट के लिए 222रन की साझेदारी निभाकर पहली पारी में 416 रन बनाने में मदद की। एंडरसन ने कहा, ‘हमें निचले क्रम में अपना काम करना है, हमें कुछ बड़ी भागीदारियां करनी होंगी और भारत पर दबाव बनाना होगा।' उन्होंने कहा, ‘और हमारा सबसे बेहतर ‘डिफेंस' आक्रमण करना होगा।' 

पिछले महीने न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरे टेस्ट में कप्तान बेन स्टोक्स और जॉनी बेयरस्टो ने इंग्लैंड को इस तरह की मुश्किल स्थिति से बाहर निकाला था। एंडरसन ने कहा, ‘पिछले कुछ हफ्तों में हम इसी तरह की मुश्किल परिस्थिति में थे और हमने जिस तरह से तब प्रतिद्वंद्वी टीम को दबाव में लाने की कोशिश की थी, उसी तरह यहां भी करेंगे।' उन्होंने कहा, ‘हम स्केार बनाना चाहते हैं और मैच को आगे बढ़ाना चाहते हैं। हम यही करने की कोशिश करेंगे।' 

एंडरसन ने 60 रन देकर पांच विकेट झटके थे। लेकिन उन्होंने माना कि पंत की शानदार पारी ने लय भारत के पक्ष में कर दी। उन्होंने कहा, ‘मुझे वास्तव में लगा कि हमने कल सुबह और दोपहर में काफी अच्छी गेंदबाजी की थी। लेकिन पंत फिर शानदार पारी खेली।' एंडरसन ने कहा, ‘वह काफी प्रतिभाशाली खिलाड़ी है, वह सभी तरह के शॉट खेलता है और वह इन्हें खेलने में जरा भी हिचकता नहीं है इसलिए उसे गेंदबाजी करना मुश्किल है।' फिर कप्तान जसप्रीत बुमराह ने स्टुअर्ट ब्राड पर 29 रन जोड़कर एक ओवर में सबसे ज्यादा रन बनाने का विश्व रिकॉर्ड बना दिया। ब्राड ने इस ओवर में अतिरिक्त सहित कुल 35 रन दिए। 

एंडरसन ने कहा, ‘सामान्य दिन में इस तरह के शॉट में गेंद बल्ले से छूकर क्षेत्ररक्षक के हाथों में चली जाती है और अगर ऐसा होता तो कोई भी इस ओवर के बारे में बात नहीं करता। लेकिन यह ओवर जिस तरह से गया, मुझे लगता है कि यह काफी दुर्भाग्यशाली रहा।' उन्होंने कहा, ‘कभी कभार शीर्ष क्रम के बल्लेबाज को गेंदबाजी करना आसान हो सकता है। लेकिन पुछल्ले गेंदबाजों के खिलाफ लय हासिल करना थोड़ा पेचीदा हो जाता है।' 

.
.
.
.
.