Sports

डबलिन : भारतीय जूनियर महिला हॉकी टीम पांच देशों के बीच खेले जा रहे यूनीफार अंडर-23 नेशन्स टूर्नामेंट के फाइनल मुकाबले में सोमवार, 26 जून को नीदरलैंड का सामना करेगी। नीदरलैंड एकलौती टीम है जिसे भारत ने इस टूर्नामेंट में नहीं हराया है। भारत ने इस टूर्नामेंट में अपनी शुरुआत मेज़बान आयरलैंड को 4-1 से हराकर की थी। अपने दूसरे मैच में भारत ने नीदरलैंड के साथ 2-2 से ड्रॉ खेला था, जबकि अपने तीसरे मुकाबले में भारत ने यूक्रेन को 3-0 से हराया था। टूर्नामेंट के अंतिम लीग राउंड मुकाबले में भारत ने अमेरिका के ऊपर 4-1 की जीत दर्ज की थी।


पूरे टूर्नामेंट में एक भी मुकाबला न हारने वाली भारतीय टीम फाइनल जीतने की प्रबल दावेदार है। भारत के प्रदर्शन के बारे में कप्तान वैष्णवी फाल्के ने कहा कि सबसे पहले और सबसे महत्वपूर्ण, मैं यह बताना चाहूंगी कि यह मेरी पहली प्रतियोगिता है, जहां मुझे भारतीय जूनियर महिला हॉकी टीम का नेतृत्व करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है, और मैं इसके लिए बहुत आभारी हूं। 


जैसा कि आप जानते होंगे कि इस टीम में कई नए खिलाड़ी हैं, और इस टूर्नामेंट में हम सभी ने साथ मिलकर अच्छा प्रदर्शन किया है, इसलिए मैं काफी खुश हूं। उन्होंने कहा कि हम इस प्रतियोगिता में एक भी मुकाबला नहीं हारे हैं। फाइनल में जाते हुए इसने हमारा मनोबल बढ़ाया है। हमने सभी की उम्मीदों से बेहतर प्रदर्शन किया। फाइनल में जाते हुए हमारा लक्ष्य अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन देना है और ट्रॉफी घर लाना है।


भारत के प्रतिद्वंदी नीदरलैंड्स का भी अब तक टूर्नामेंट शानदार रहा है। डच टीम ने अपने अभियान की शुरुआत अमेरिका पर 4-2 से जीत के साथ की। उसके बाद उन्होंने भारत के साथ 2-2 से ड्रॉ खेला, और तीसरे मुकाबले में आयरलैंड को 5-1 से हराया। नीदरलैंड लीग चरण के अपने आखिरी मैच में रविवार को यूक्रेन से भिड़ेगा, जिसके बाद उसे फाइनल में भारत का सामना करना है। 

.
.
.
.
.