Sports

कानपुर : न्यूजीलैंड के सलामी बल्लेबाज विल यंग ने शनिवार को भारत के खिलाफ कानपुर टेस्ट के तीसरे दिन बल्लेबाजी की मुश्किल परिस्थितियों में करियर की सर्वश्रेष्ठ 89 रन की पारी खेली और स्पिन खेलने की कला सिखाने के लिए अपने कोच गैरी स्टीड को श्रेय दिया। यंग ने अपनी पारी के दौरान 14 बार गेंद सीमारेखा के पार कराई। उन्होंने कहा कि स्टीड के साथ अपने करियर के शुरूआती दिनों में की गई कड़ी मेहनत ने उन्हें स्पिन गेंदों का डटकर सामना करने में मदद की। उन्होंने कहा- 3 या 4 साल हो चुके हैं। मैंने उनसे कुछ साथी खिलाड़ियों के साथ भारत में स्पिन के खिलाफ बल्लेबाजी करने की कला के बारे में सीखा था।

IND vs NZ, Will Young, dealing with spinners, cricket news in hind, sports news, विल यंग, India vs New Zealand 1st Test

यंग ने कैंटरबरी क्रिकेट क्लब के साथ अपनी ट्रेनिंग की याद करते हुए कहा- एक समय ऐसा भी था जब गैरी और मैं करीब दो हफ्ते तक ट्रेनिंग कर रहे थे और इसमें से एक ड्रिल ऐसी थी कि मुझे फ्रंट पैड के बिना ही स्वीप करना था। उन्होंने कहा- यह गेंद स्वीप करने के बारे में था, वर्ना आपको चोट लग जायेगी। इसलिए गैरी ने मुझे यह बात बताई थी और हां, इस पर - स्वीप शॉट - काम जारी है। चोटिल डेवोन कोनवे की जगह टीम में शामिल किए गए यंग शतक से 11 रन से चूक गए। उनकी पारी रविचंद्रन अश्विन ने समाप्त की।

IND vs NZ, Will Young, dealing with spinners, cricket news in hind, sports news, विल यंग, India vs New Zealand 1st Test
अक्षर पटेल (62 रन देकर 5 विकेट) और अश्विन की स्पिन जोड़ी ने ग्रीन पार्क की तीसरे दिन की विकेट पर न्यूजीलैंड के बल्लेबाजों को परेशानी में डाला। यंग ने कहा कि पिच पर दरारेंं पडऩी शुरू हो गई हैं और उनके बल्लेबाजों को असमान उछाल का सामना करने में दिक्कत हुई। उन्होंने कहा कि पहले दिन से ही विकेट पर थोड़ी दरारें दिख रही थीं जो अब बड़ी होनी शुरू हो गई हैं। इस पर थोड़ा असमान उछाल भी है। मुझे लगता है कि आज हमारे बल्लेबाज इससे ही मात खा गये।

.
.
.
.
.