Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : मैनचेस्टर में रविवार को भारत और पाकिस्तान के बीच आईसीसी वर्ल्ड कप 2019 का लीग मैच खेला गया जिसमें भारत ने डकवर्थ-लुईस नियम के तहत 89 रनों से हराकर जीत दर्ज की। मैच शुरू होने से पहले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने सरफराज को सलाह दी थी कि जब तक पिच नम नहीं होती, टाॅस जीतकर बल्लेबाजी करनी चाहिए। हालांकि पाकिस्तानी कप्तान ने टाॅस तो जीत लिया लेकिन अपने पीएम की बात नहीं मानी और टाॅस जीतने के बाद पहले गेंदबाजी का फैसला लिया। पूर्व क्रिकेटर और अपने पीएम की बात ना मानना पाकिस्तानी को इतना महंगा पड़ा कि इसका मुल्य उन्हें हार से चुकाना पड़ा।  

 

 

इमरान खान ने मैच से पहले कई ट्वीट किए। इसमें से जहां एक ट्वीट में पाक पीएम ने पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के कप्तान सरफराज अहमद को टाॅस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने की सलाह दी। वहीं एक अन्य ट्वीट में इमरान खान ने कहा कि आज के मैच को देखते हुए दोनों टीमें काफी मानसिक दबाव में होंगी। ऐसे में आप अपने दिमाग पर कैसे कंट्रोल करते हैं ये देखने वाली बात होगी और यह मैच का परिणाम तय करेगा। हम भाग्यशाली है कि सरफराज के रूप में हमारे पास एक साहसिक कप्तान है। आज उन्हें अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा। 

 

पाक पीएम पाकिस्तानी खिलाड़ियों ने कहा, वे अपने मन से सभी आशंकाओं को दूर करें और नकारात्मक स्थिति में न हों। उन्होंने कहा कि हारने की सभी आशंकाओं को दिमाग से निकाल देना चाहिए क्योंकि दिमाग एक समय में एक ही विचार को संसाधित कर सकता है। हारने का डर एक नकारात्मक और रक्षात्मक रणनीति की ओर जाता है और विरोधियों की महत्वपूर्ण गलतियों पर ध्यान नहीं जाता है। 

 

इमरान खान ने कहा कि आक्रामक रणनीति बनाने के लिए, सरफराज को विशेषज्ञ बल्लेबाजों और गेंदबाजों के साथ जाना होगा। इस मैच में भारत भले ही फेवरेट हो, लेकिन दिमाग से खोने का डर निकाल दें। बस अपना सर्वश्रेष्ठ दें और आखिरी गेंद तक लड़ें। इसके बाद जो भी हो, उसे सच्चे खिलाड़ियों की तरह स्वीकार करें। दुआएं आप सभी के साथ हैं।

.
.
.
.
.