Sports

दुबई: अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने गुरुवार को गणितज्ञ टोनी लुईस के निधन पर शोक जताया जिन्होंने सीमित ओवरों के क्रिकेट में बारिश से प्रभावित मैचों के लिए डकवर्थ-लुईस-स्टर्न विधि तैयार करने में अहम भूमिका निभाई। लुईस का बुधवार को निधन हो गया। वह 78 साल के थे।

The ICC expresses its sadness at the death of mathematician Tony Lewis, who co-developed the Duckworth-Lewis-Stern system of calculating target scores in rain-affected limited-overs matches. https://t.co/hsGnO0bmfH

— ICC (@ICC) April 2, 2020

आईसीसी के क्रिकेट महाप्रबंधक ज्योफ अलार्डिस ने कहा, ‘क्रिकेट में टोनी का योगदान काफी बड़ा है। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में दोबारा लक्ष्य निर्धारित करने की मौजूदा प्रणाली दो दशक से भी अधिक समय पहले उनके और फ्रैंक (डकवर्थ) द्वारा विकसित प्रणाली पर आधारित है।' उन्होंने कहा, ‘आने वाले वर्षों में भी क्रिकेट के खेल के प्रति उनके योगदान को याद किया जाएगा और हमें उनके परिवार और मित्रों के प्रति संवेदना जाहिर करते हैं।' लुईस ने फ्रैंक डकवर्थ के साथ मिलकर डकवर्थ-लुईस पद्धति तैयार की थी जिसे आईसीसी ने 1999 में आधिकारिक तौर पर अपनाया। 

PunjabKesari
डकवर्थ और लुईस की सेवानिवृत्ति के बाद स्टीवन स्टर्न इस प्रणाली से जुड़े और 2014 में इस पद्धति को डकवर्थ-लुईस-स्टर्न नाम दिया गया। लुईस ने शेफील्ड विश्वविद्यालय से गणित और संख्यिकी में स्नातक की परीक्षा उत्तीर्ण की और आक्सफोर्ड ब्रूक्स विश्वविद्यालय से सेवानिवृत्त हुए जहां वह ‘क्वांटिटेटिव रिसर्च मेथड्स' के लेक्चरर थे। लुईस को क्रिकेट और गणित में योगदान के लिये 2010 में ब्रिटिश साम्राज्य के विशिष्ट सम्मान एमबीई से सम्मानित किया गया था।

 

.
.
.
.
.