Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान इयान चैपल ने टिम पेन को काफी फटकार लगाई है। इयान चैपल ने कहा कि बेहतर होता अगर टिम पेन शांत रहते और रविचंद्रन अश्विन के साथ किसी भी बातचीत में शामिल होने की कोशिश नहीं करते। लेकिन बाकी सभी खिलाड़ियों की तरह आपको बस अपना मुंह बंद करके काम करने की जरूरत थी। यह एक अच्छी उदाहरण था कि आपको ऐसा क्यों करना चाहिए।

इयान चैपल ने कहा कि जो कुछ भी वह अश्विन के साथ करने की कोशिश कर रहा था उसमें शामिल नहीं होना चाहिए। उसे शांत रहना चाहिए था। उन्होंने इसके साथ कहा कि बतौर कप्तान पेन के लिए यह एक मुश्किल काम है। क्योंकि उन्हें विकेटकीपिंग भी करनी है और टीम की कमान भी संभालनी है।  

उन्होंने आगे कहा कि बतौर कप्तान पेन को स्लेजिंग करने की जरूरत नहीं थी। उस समय उन्हें सोचना की जरूरत थी और यह सिर्फ टिम पेन के लिए ही नहीं बल्कि मौजूदा समय में सभी खिलाड़ियों के लिए हैं। यह एक बिजेनस है और खेल का हिस्सा है लेकिन मेरी नजरों में यह खेल का हिस्सा नहीं है। उन्होंने इसके साथ ही अंपायर की भी आलोचना की उन्हें इस दौरान अश्विन के पास आना चाहिए था क्योंकि अश्विन इन सब हरकतों से खुश नहीं थे। 

उन्होंने कहा कि तीसरे मैच में कई चीजे हुईं जो मैदान पर नहीं होनी चाहिए थी। उन्हीं में से एक था कि अंपायर का अश्विन की मदद के लिए आगे ना आना। दरअसल मैं खुश हुआ जब अश्विन ने कहा कि जब तक वह बकवास करना बंद नहीं करेेंगे मैं बल्लेबाजी नहीं करूंगा। गौर हो कि सीरीज का चौथा टेस्ट मैच ब्रिसबेन के गाबा मैदान में खेला जाना है। इस मैच में दोनों टीमें अपना पूरा जोर लगाकर जीतने की कोशिश करेंगी।    
 

.
.
.
.
.