Sports

खेल डैस्क : पीठ की चोट के कारण लंबे समय तक टीम इंडिया से बाहर रहे हार्दिक पांड्या पर किस्मत मेहरबान हो रही है। फिट होने के बाद टीम इंडिया में लौटे हार्दिक जबरदस्त फॉर्म में दिख रहे हैं। इसी कारण बीसीसीआई ने उनपर भरोसा जताते हुए उन्हें आगामी सीरीज के लिए केएल राहुल की जगह उपकप्तान बनाने का फैसला किया है। राहुल का बतौर कप्तान अभी तक प्रदर्शन इतना अच्छा नहीं रहा है इसलिए मैनेजमैंट टी-20 विश्व कप से ठीक पहले बड़ा फैसला लेने के मूड में दिख रही है। टी-20 विश्व कप के लिए अनुमानित 15 सितंबर को टीम की घोषणा की जाएगी, इसमें हार्दिक पांड्या को टी 20 विश्व कप के लिए उप-कप्तान बनाया जाएगा।

Preparations, Hardik Pandya, KL Rahul, cricket news in hindi, Sports news, Team india, T 20 world cup, तैयारी, हार्दिक पांड्या, केएल राहुल, क्रिकेट समाचार हिंदी में, खेल समाचार, टीम इंडिया, टी 20 विश्व कप

बीसीसीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी क कहना है कि हार्दिक विश्व स्तरीय खिलाड़ी हैं। वह अब फिट हैं। उन्हें उपकप्तान बनाया जाएगा या नहीं यह चयनकर्ताओं पर निर्भर है। लेकिन वह पहले से ही समूह में एक नेता है। एक ऑलराउंडर के तौर पर वह दोनों स्थितियों को समझते हैं। उनके पास नेतृत्व कौशल है जोकि हमने आईपीएल में बाखूबी देखा। 


इसलिए हार्दिक पर बढ़ गया भरोसा
हार्दिक ने आईपीएल में वापसी कर 15 मैचों में 487 रन बनाए।
आईपीएल फाइनल में गेंदबाजी करते 3 विकेट चटकाए, टीम को टाइटल दिलाया।
टीम इंडिया में खेलते हुए 12 मैचों में 31 की औसत से 253 रन बना चुके हैं।
केएल राहुल चोट के कारण बाहर हैं इसलिए साऊथ अफ्रीका सीरीज में वह उपकप्तान रहे।
आयरलैंड में अपनी कप्तानी में 2 टी-20 मैचों की सीरीज जीती।

Preparations, Hardik Pandya, KL Rahul, cricket news in hindi, Sports news, Team india, T 20 world cup, तैयारी, हार्दिक पांड्या, केएल राहुल, क्रिकेट समाचार हिंदी में, खेल समाचार, टीम इंडिया, टी 20 विश्व कप


बीसीसीआई अधिकारी की दो-टूक
ऑलराउंडर होने के नाते अपने वर्कलोड को मैनेज करना महत्वपूर्ण है। हमारे पास बहुत सारे टी-20 और एकदिवसीय मैच हैं और एक ऑलराउंडर के लिए तीनों प्रारूपों में खेलना संभव नहीं होगा। हार्दिक अब सफेद गेंद के प्रारूपों पर ध्यान केंद्रित करेगा। जहां तक टेस्ट की बात है तो हमारे पास ऑलराउंडर स्लॉट के लिए जडेजा और शार्दुल हैं जो अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। एक बार जब दीपक चोट से वापस आ जाएंगे तो उन्हें टेस्ट टीम में रखा जाएगा।

.
.
.
.
.