Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : भारत के पूर्व दिग्गज बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने टेस्ट चैंपियनशिप से पहले बयान दिया है। गावस्कर ने अपने बयान में कहा कि न्यूजीलैंड के खिलाफ भारतीय टीम के बल्लेबाजों को संभल कर खेलना होगा। खासतौर पर भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली और रोहित शर्मा को। यह दोनों ही बल्लेबाज भारतीय टीम के मजबूत स्तंभ हैं। इन्हें कीवी गेंदबाजों के खिलाफ संभल कर खेलना होगा। 

Sports

गावस्कर ने कहा कि कप्तान विराट कोहली ने 2018 के इंग्लैंड दौरे पर शानदार प्रदर्शन किया था लेकिन बाकी बल्लेबाज सीम और स्विंग के सामने लगातार अच्छा नहीं खेल सके हैं। कोहली की सफलता के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि वनडे क्रिकेट के प्रभाव के कारण कई बार बल्लेबाज उछाल लेती गेंद को खेलने के चक्कर में पड़ जाते हैं। जहां गेंद स्विंग नहीं लेती, वहां चल जाता है लेकिन इंग्लैंड में गेंद स्विंग लेती है और शरीर के पास खेलना जरूरी है।

उन्होंने कहा कि विराट कोहली सपाट पिचों पर ऐन मौके तक गेंद के आने का इंतजार करते हैं। यही वजह है कि हर तरह की पिच पर वह कामयाब हैं। इंग्लैंड के खिलाफ भारत में श्रृंखला में वह शतक नहीं बना सके लेकिन 60 रन की पारी से दिखा दिया कि स्पिन गेंदबाजी को कैसे खेलना है। वह गेंद को सूंघ लेता था और यह महान बल्लेबाज की निशानी है।

गावस्कर ने यकीन जताया कि रोहित शर्मा इंग्लैंड में उस फॉर्म को दोहराने में कामयाब रहेंगे जो 2019 में सीमित ओवरों की श्रृंखला में दिखाया था। इसके अलावा विश्व कप के पहले मैच में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ साउथम्पटन में ही उन्होंने कठिन हालात में शतक बनाया था जिससे उनका हौसला बढ़ेगा। उन्होंने कहा कि दो साल पहले इंग्लैंड में विश्व कप में रोहित ने पांच शतक बनाए थे। इस पिच पर दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ शतक बनाया था। अब उसके पास अधिक अनुभव है तो मुझे यकीन है कि वह उस फॉर्म को दोहराएगा।

.
.
.
.
.