Sports

नई दिल्ली: भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली पर इशारों- इशारों में निशाना साधते हुए कहा है कि मौजूदा भारतीय टीम आईसीसी टूर्नामेंटों के बड़े मैचों में दबाव नहीं झेल पाती है और यही वजह है कि उसने कई निर्णायक मैच गंवाएं हैं। बता दें, भारत पिछले साल इंग्लैंड में हुए एकदिवसीय विश्व कप के सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के खिलाफ हार गया था और इस नॉकआउट मुकाबले में भारत के शीर्ष तीन बल्लेबाज उपकप्तान रोहित शर्मा, ओपनर लोकेश राहुल और कप्तान विराट कोहली एक-एक रन बनाकर आउट हो गए थे। 

PunjabKesari
दरअसल, क्रिकेट से सांसद बने टीम गंभीर ने स्टार स्पोटर्स के शो क्रिकेट कनेक्टेड में बड़े टूर्नामेंटों में भारतीय खिलाड़ियों के दबाव झेलने पर कहा, ‘एक अच्छे खिलाड़ी और एक बहुत अच्छे खिलाड़ी में यह अंतर होता है कि आप निर्णायक मुकाबलों में कैसा प्रदर्शन करते हैं जो आपको ऐसे मैच जिता सके। मेरी नजर में मौजूदा भारतीय टीम इन मैचों में दबाव नहीं झेल पाती है जबकि अन्य टीमें ऐसा कर लेती हैं।' गंभीर ने कहा, ‘अगर आप सेमीफाइनल और फाइनल के प्रदर्शन को देखें तो आपको दिखेगा कि टीम लीग स्तर में बेहतरीन प्रदर्शन करती है लेकिन जैसे ही सेमीफाइनल और नॉकआउट मुकाबले आते हैं तो टीम का प्रदर्शन निराशाजनक रहता है। यह शायद कमजोर मानसिकता के कारण हो सकता है।'

PunjabKesari
पूर्व क्रिकेटर ने आगे कहा, ‘हम हमेशा कहते हैं कि हमारे पास सब कुछ है। हमारे पास विश्व चैंपियन बनने की झमता है लेकिन जब तक आप इसे क्रिकेट के मैदान पर साबित नहीं करते तब तक आप विश्व चैंपियन नहीं कहला सकते।' गंभीर ने कहा, ‘आपको ऐसी स्थिति में अपनी क्षमता का प्रदर्शन करना होगा। मैं हमेशा कहता हूं कि द्विपक्षीय सीरीज और लीग स्तर में आपके पास गलती करने के मौके होते हैं लेकिन नॉकआउट में आप गलती नहीं कर सकते। अगर आपने गलती की तो आपको सीधे घर जाना होगा। इस जगह भरोसे की जरुरत पड़ती है जो निर्णायक मुकाबलों में भारतीय टीम के पास नहीं होती।'   

.
.
.
.
.