Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : जोहान्सबर्ग में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पिछले टेस्ट में एक शानदार अर्धशतक बनाने के बाद टीम इंडियन टेस्ट विशेषज्ञ अजिंक्य रहाणे न्यूलैंड्स, केपटाउन में सीरीज के निर्णायक तीसरे टेस्ट में नहीं चले और दो पारियों में मात्र 10 रन ही बनाए। रहाणे के खराब प्रदर्शन पर पूर्व क्रिकेटर और कमेंटेटर संजय मांजरेकर ने कहा कि अजिंक्य रहाणे को एक और पारी नहीं देंगे, उन्हें प्रथम श्रेणी क्रिकेट में वापस जाने की जरूरत है। 

दक्षिण अफ्रीका ने तीसरे और सीरीज के अंतिम मैच में भारत के खिलाफ जीत दर्ज करते हुए सीरीज पर कब्जा कर लिया है। भारत ने पहली पारी में 223 रन बनाए थे जिसके जवाब में भारतीय गेंदबाजों ने द. अफ्रीका को 210 पर ढेर करते हुए 13 रन की बढ़त बनाई। हालांकि दूसरी पारी में ऋषभ पंत की शतकीय पारी के अलावा अन्य भारतीय बल्लेबाज कुछ खास कमाल नहीं दिखा पाए और टीम इंडियन ने 198 रन बनाते हुए द. अफ्रीका को 2012 रन का लक्ष्य दिया। इसके जवाब में द. अफ्रीका ने 3 विकेट गंवाकर जीत हासिल करते हुए सीरीज अपने नाम की। 

मांजरेकर ने कहा, उसे वापस जाने और प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेलने की जरूरत है और उम्मीद है कि वह अपनी लय में वापस आएगा। मैं रहाणे को एक और पारी नहीं दूंगा। पुजारा के पास मेरी किताब में एक मजबूत मामला है। पिछले 3-4 वर्षों में रहाणे के बारे में कुछ भी मुझे उम्मीद नहीं देता है कि वह वापस फॉर्म में आ रहा है। मेलबर्न में जब उन्होंने शतक जड़ा तो उनकी फार्म की वापीस की झलक देखने को मिली। लेकिन इसके अलावा ज्यादा कुछ नहीं। 

पूर्व क्रिकेटर ने कहा कि पिछले साल ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एमसीजी में अपनी मैच जीतने वाली 112 रन की पारी के बाद से रहाणे डब्ल्यूटीसी फाइनल और इंग्लैंड के खिलाफ उसके बाद की टेस्ट सीरीज सहित कोई भी प्रभावशाली पारी नहीं खेल पाए हैं। 2021 में पूर्व भारतीय टेस्ट उप-कप्तान 15 मैचों में सिर्फ 20.25 की औसत से 547 रन ही बना सके। 
 

.
.
.
.
.