Sports

साउथम्पटन: इंग्लैंड के पूर्व कप्तान नासिर हुसैन ने कहा कि वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में कार्यवाहक कप्तान बेन स्टोक्स के फैसले पर सवाल उठाने के बाद भी टीम के लिए बल्लेबाजी ‘सरदर्द' बनी हुई है। जर्मेन ब्लैकवुड की शानदार बल्लेबाजी से वेस्टइंडीज ने चार विकेट की यादगार जीत दर्ज कर तीन मैचों की श्रृंखला में 1-0 की बढ़त कायम कर ली। अनुभवी स्टुअर्ड ब्रॉड को टीम में शामिल नहीं करने पर मैच से पहले ही इस फैसले पर सवाल उठने लगे थे।

PunjabKesari
हुसैन ने एक चैनल पर बातचीत के दौरान कहा, ‘ब्रॉड के मुद्दे या टॉस जीत कर बल्लेबाजी के फैसले पर ध्यान नहीं भटकाइए। इंग्लैंड की टीम पहले बल्लेबाजी करते हुए 204 रन पर आउट हो गई। यह अब भी उनकी लिए सरदर्द की तरह है।' उन्होंने कहा, ‘टीम ने दक्षिण अफ्रीका में अच्छा प्रदर्शन किया लेकिन यहां इंग्लैंड में ड्यूक गेंद से वह पारी की शुरुआत में लड़खड़ा गए और रूट की गैरमौजूदगी में यह किसी बुरे सपने की तरह था। इंग्लैंड के लिए यह अब भी अहम मामला है।' इंग्लैंड की पहली पारी 204 रन पर सिमट गई थी।  

PunjabKesari
दोनों टीमें यहां से मैनचेस्टर रवाना होगी जहां तीन मैचों की श्रृंखला का दूसरा मुकाबला गुरुवार से खेला जाना है। हुसैन का मानना है कि इंग्लैंड को श्रृंखला जीतने के लिए दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ किए गए बल्लेबाजी प्रदर्शन को दोहराना होगा। उन्होंने कहा, ओल्ड ट्रैफर्ड में उन्हें अच्छी पिच मिलेगी। रूट वापस आ गए हैं और उन्हें वैसी बल्लेबाजी करनी होगी जैसा कि उन्होंने दक्षिण अफ्रीका और न्यूजीलैंड में किया था। उन्हें 204 पर आउट होने से बचना होगा।' हुसैन ने कहा कि इंग्लैंड की टीम ने वेस्टइंडीज को कमतर आंका, अगर यह एशेज श्रृंखला का मैच होता तो ब्रॉड जरूर खेलते। 

.
.
.
.
.