Sports

एजबेस्टन (बर्मिंघम) : इंगलैंड में बतौर कोच ऐतिहासिक टेस्ट सीरीज जीत दर्ज करने का राहुल द्रविड़ को भी मलाल रहा। बर्मिंघट टेस्ट गंवाने के बाद द्रविड़ ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि अब एजबेस्टन में की गई गलतियों को सुधारने का प्रयास करेंगे। टेस्ट में टीम की गलतियों पर बात करते हुए द्रविड़ ने कहा- कल (चौथे दिन) हमने अच्छी बल्लेबाजी नहीं की। उसके बाद हमारी गेंदबाजी में तीव्रता की कमी थी। हमें इंग्लैंड को भी श्रेय देना होगा।

घरेलू टीम ने 378 रनों के लक्ष्य का आसानी से पीछा करने के बाद भारत को सात विकेट से हार का सामना करना पड़ा। यह इंग्लैंड के अपने टेस्ट इतिहास में अब तक का सर्वोच्च स्कोर था। द्रविड़ ने कहा- हमारे लिए दक्षिण अफ्रीका के बाद अब यहां निराशाजनक दौर रहा। इसके कई कारण हो सकते हैं। हमें फिटनेस का स्तर बनाए रखने की जरूरत है। हमारी बल्लेबाजी तीसरी पारी में ठीक नहीं चल रही। हमने इसे दक्षिण अफ्रीका और एजबेस्टन में देखा। 

द्रविड़ ने कहा कि हम इसके बारे में सोचेंगे। हर मैच के बाद एक सीख होती है। हम तीसरी पारी में खराब बल्लेबाजी और चौथी पारी में खराब गेंदबाजी क्यों कर रहे हैं? ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को बाहर करने और शार्दुल ठाकुर को अंतिम एकादश में शामिल करने के बारे में पूछे जाने पर द्रविड़ ने कहा- यह आसान है। ऐश (अश्विन) जैसे किसी व्यक्ति को छोडऩा आसान नहीं है। लेकिन हमें देखना होगा कि पहले दिन विकेट पर घास थी। फिर विकेट उतना नहीं टूटा, जितना हमने उम्मीद की थी। पहली पारी में शतक और दूसरी में अर्धशतक बनाने वाले ऋषभ पंत के बारे में द्रविड़ ने कहा- वह बहुत अच्छा खेल रहा है। कभी-कभी वह लोगों की हृदय गति को बढ़ा देता है। हमें इसे स्वीकार करना होगा।
 

.
.
.
.
.