Sports

 

बेंगलुरु : पूर्व भारतीय कप्तान और दिग्गज बल्लेबाज राहुल द्रविड़ बेंगलुरु स्थित राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए) में क्रिकेट संचालन का प्रभार संभालेंगे और उनका लक्ष्य इस अकादमी को हाई परफार्मेंस सेंटर बनाना रहेगा। पहले यह खबर आई थी कि हितों के टकराव के चलते द्रविड़ एनसीए का प्रभाव संभालने से हट सकते हैं लेकिन अब उनका एनसीए का प्रमुख बनना तय है। हालांकि उनके अनुबंध की अवधि के बारे में अभी पता नहीं चल सका है लेकिन समझा जाता है कि यह एक दीर्घकालीन अनुबंध होगा।

एनसीए प्रमुख की इस भूमिका से द्रविड की भारतीय क्रिकेट में भूमिका में और विस्तार हो गया है। वह भारत ए और भारत अंडर-19 टीमों के कोच भी हैं और इन पदों पर वह 2015 से बने हुए हैं। यह समझा जाता है कि वह इन पदों पर बने रहेंगे और यदि वह इन टीमों के साथ यात्रा करने की स्थिति में नहीं होंगे तो वह सहायक कोचों को कोचिंग की जिम्मेदारी दे देंगे। पूर्व कप्तान को जुलाई के शुरु में एनसीए का प्रभार संभालना था लेकिन इंडिया सीमेंट्स के वैतनिक कर्मचारी होने के कारण इसमें विलंब हो गया था। इंडिया सीमेंट्स बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष एन श्रीनिवासन की कंपनी है। इसे हितों के टकराव के रुप में देखा जा रहा था। लेकिन समझा जाता है कि द्रविड़ ने एनसीए के प्रमुख के रुप में काम करने के समय के लिए इंडिया सीमेंट्स से अनुपस्थित रहने की अनुमति मांगी है। 

.
.
.
.
.