Sports

सोनीपत : दुनिया की दूसरे नंबर की तीरंदाज दीपिका कुमारी पिछले 12 साल में पहली बार एशियाई खेलों के लिए भारतीय टीम में जगह बनाने में नाकाम रही है। दीपिका को आखिरी चरण के तीन में से दो मुकाबलों में पराजय का सामना करना पड़ा। वह शनिवार को दो चरण के एलिमिनेशन दौर में पांचवें स्थान पर रही। इसके बाद उन्हें राउंड रॉबिन खेलना पड़ा। 

दिल्ली राष्ट्रमंडल खेल 2010 में स्वर्ण पदक जीतने के बाद पहली बार दीपिका किसी बहु खेल स्पर्धा से बाहर रहेंगी। वह 2010, 2014 और 2018 एशियाई खेलों में भाग ले चुकी हैं और ग्वांग्झू में 12 साल पहले टीम वर्ग का कांस्य पदक जीता था। वह विश्व चैम्पियनशिप में पदक जीत चुकी है लेकिन ओलंपिक में हमेशा नाकाम रही। विश्व कप में उन्होंने 11 स्वर्ण, 12 रजत और सात कांस्य पदक जीते हैं। 

पिछले साल टोक्यो ओलंपिक में वह दुनिया की नंबर एक तीरंदाज के रूप में उतरी थी और विश्व कप में पांच पदक जीत चुकी थी। वह हालांकि मिश्रित और एकल वर्ग के क्वार्टर फाइनल में हार गई। यहां राउंड रॉबिन चरण में वह एक अंक से चूक गई। अंकिता भगत और सिमरनजीत कौर के साथ मौजूदा राष्ट्रीय चैम्पियन रिद्धि फोर ने टीम में जगह बनाई। 

यही टीम अप्रैल में अंताल्य में होने वाले विश्व कप के पहले चरण में खेलेगी। दीपिका ने हाल ही में संपन्न राष्ट्रीय चैम्पियनशिप में कांस्य जबकि उनके पति अतनु दास ने रजत पदक जीता था। पुरूष टीम में जयंत तालुकदार ने 12 साल बाद वापसी की है। कंपाउंड टीम का ऐलान बुधवार को किया जाएगा। एशियाई खेल 10 से 25 सितंबर तक हांगझू में होने हैं। 

पुरूष रिकर्व टीम : तरूणदीप राय, जयंत तालुकदार, नीरज चौहान , सचिन गुप्ता महिला रिकर्व टीम : रिद्धि फोर, कोमलिका बारी, अंकिता भगत और सिमरनजीत कौर। 

.
.
.
.
.