Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : तमिलनाडु प्रीमियर लीग में खेल रहे कुछ खिलाड़ियों को अंजान नम्बर से व्हाट्सऐप मैसेज आने के बाद खलबली मच गई जिसके बाद खिलाड़ियों ने इस बारे में भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को जानकारी दी। बीसीसीआई को शिकायत देने के बाद एंटी करप्‍शन यूनिट ने मामले की गंभीरता को देखते हुए जांच शुरू कर दी है। 

PunjabKesari

बीसीसीआई की एंटी करप्‍शन यूनिट के चीफ अजीत सिंह ने इस बारे में जानकारी देते हुए कहा कि कुछ खिलाड़ियों काे व्हाट्सऐप पर अनजान लोगाें ने मैसेज भेजे थे। सिंह ने कहा कि खिलाड़ियों से कब और किन परिस्थितियों में संपर्क किया गया, इस बारे में जानकारी के बाद कार्रवाई शुरु कर दी गई है। जिन नम्बरों से व्हाट्सऐप मैसेज आए थे, उन्हें ट्रैक करने की कोशिश की जा रही है। 

PunjabKesari

अजीत सिंह ने बताया कि फिलहाल इस मामले में टीम के मालि‌कों से पूछताछ नहीं की गई है। वहीं इस मामले में बीसीसीआई की एंटी करप्‍शन यूनिट कानूनी मदद ले रही है और आने वाले दिनों में एफआईआर भी दर्ज हो सकती है। रिपोर्ट्स की मानें तो एंटी करप्‍शन यूनिट तमिलनाडु प्रीमियर लीग में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार करने का आरोप में एक भारतीय खिलाड़ी, आईपीएल में नियमित खिलाड़ी और एक रणजी ट्रॉफी कोच के खिलाफ जांच कर रही है। 

PunjabKesari

गौर हो कि तमिलनाडु लीग को चार साल पहले शुरु किया गया था और पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने इसका उद़्घाटन किया था। इस लीग में 8 टीमें हिस्सा लेती हैं। खास बार यह है कि तमिलनाडु लीग में भारत के स्टार खिलाड़ी आर अश्विन, मुरली विजय, विजय शंकर, दिनेश कार्तिक भी खेलते हैं। 

.
.
.
.
.