Sports

लंदन : भारत के ऑलराउंडर वॉशिंगटन सुंदर इस सीजन के काउंटी क्रिकेट में लंकाशायर की टीम से खेलेंगे। इस बात की पुष्टी लंकाशायर मैनेजमेंट ने बुधवार दोपहर को कर दी है। 22 वर्षीय वॉशिंगटन तीन काउंटी चैंपियनशिप के मैच के लिए उपलब्ध रहेंगे, जिस दौरान वह रॉयल लंदन कप में हिस्सा लेंगे। 

सुंदर चेतेश्वर पुजारा के बाद इस सीजन में इंग्लिश काउंटी क्रिकेट खेलने वाले दूसरे भारतीय खिलाड़ी हैं, जिन्होंने डिवीजन टू में ससेक्स के लिए 120 की शानदार औसत से आठ पारियों में 720 रन बनाए। श्रेयस अय्यर ने 2021 में रॉयल लंदन कप के लिए लंकाशायर के साथ अनुबंध किया था, लेकिन कंधे की चोट के कारण उन्हें बाहर होना पड़ा। 

लंकाशायर वर्तमान में काउंटी चैम्पियनशिप डिवीजन एक के अंक तालिका में सरे और हैम्पशायर के बाद 108 अंकों के साथ तीसरे स्थान पर है। वे 26 जून से वाइटलिटी ब्लास्ट टी20 मैचों के बाद ग्लॉस्टरशायर के फिर से टेस्ट मैच खेलेंगे। वॉशिंगटन बेंगलुरु में राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए) में हाथ की चोट से उबरने के लिए काम कर रहे हैं। 

जुलाई 2021 में चेस्टर-ले-स्ट्रीट में काउंटी सिलेक्ट इलेवन के ख़लिाफ तीन दिवसीय मैच खेलते समय उंगली में चोट भी लगी थी। चोट ने उन्हें उस इंग्लैंड दौरे से बाहर करवा दिया था और वह आईपीएल 2021 का दूसरा चरण भी नहीं खेल पाए थे। वॉशिंगटन को पिछले कुछ सालों में चोटऔर बीमारी के कारण कई बार क्रिकेट से दूर रहना पड़ा है। उन्हें सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में अपने राज्य तमिलनाडु की तरफ से टीम में शामिल किया गया था, लेकिन यह समझा जाता है कि भारतीय टीम प्रबंधन ने तमिलनाडु को कहा था कि वॉशिंगटन को वापस क्रिकेट के मैदान पर लाने के लिए कोई हड़बड़ी ना किया जाए। 

इसके बाद उन्होंने विजय हजारे ट्रॉफी में सफल वापसी की, जिसमें उन्होंने आठ मैचों में 4.77 की इकॉनमी रेट से रन देते हुए 16 विकेट लिए जिससे तमिलनाडु फाइनल में पहुंचा। इस प्रदर्शन से दक्षिण अफ्रीका में तीन मैचों की वनडे श्रृंखला के लिए उनकी भारतीय टीम में वापसी हुई, लेकिन उन्हें कोविड हो गया और वह टीम में शामिल नहीं हो पाए। हाल ही में समाप्त हुए आईपीएल 2022 में उन्हें हाथ में फिर से चोट लग गई थी। हालांकि आईपीएल में उन्होंने कुल नौ मैच खेले। उस दौरान उन्होंने 101 रन बनाए और छह विकेट लिए थे। 

.
.
.
.
.