Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : मुंबई में आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान अखिल भारतीय राष्ट्रीय चयन समिति ने वेस्टइंडीज दौर के लिए भारतीय टीम का ऐलान किया। इस दौरान चीफ सेलेक्टर एमएसके प्रसाद ने उस वजह के बारे में भी बताया जिस कारण वर्ल्ड कप की टीम में अंबाती रायडू को अनदेखा किया गया। प्रसाद ने कहा, 'जब अंबाती रायडू को टी-20 परफॉर्मेंस के आधार पर वनडे टीम में चुना गया तब चयनकर्ताओं को आलोचना का शिकार होना पड़ा। लेकिन, इसके बाद हमने रायडू को लेकर काफी विचार किया।' 

प्रसाद ने कहा कि जब रायडू यो-यो फिटनेस टेस्ट में फेल हुए तो हमने उससे फिटनेस प्रोग्राम कराए। लेकिन, कुछ कॉम्बिनेशन के कारण वह वर्ल्ड कप की टीम में नहीं चुने जा सके। इस तरह सेलेक्शन कमेटी को पक्षपाती नहीं बताया जा सकता।' रायडू के 3D चश्मे वाले ट्वीट पर चुटकी लेते हुए चीफ सेलेक्टर ने कहा वह ट्वीट काफी मजेदार था और मुझे अच्छा लगा। 

रायडू की जगह मयंक अग्रवाल को वर्ल्ड कप टीम में रखे जाने वाले सवाल पर प्रसाद ने कहा कि पहले विजय शंकर इंजर्ड हुए और बाद में केएल राहुल कैच लेते समय चोटिल हो गए थे। ऐसे में हमें एक बैकअप ओपनर की जरूरत थी जिस कारण अग्रवाल को इंग्लैड वर्ल्ड कप के लिए भेजा था। गौर हो कि ऋषभ पंत वर्ल्ड कप टीम में चुने जाने के बाद रायडू को उम्मीद थी कि अब भी उन्हें वर्ल्ड कप में मौका मिलेगा लेकिन मयंक अग्रवाल को टीम में शामिल करने के बाद रायडू ने दुखी होकर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास का ऐलान कर दिया था। 

.
.
.
.
.