Sports

चेन्नई ( निकलेश जैन ) : 44वे शतरंज ओलंपियाड में भारतीय शतरंज टीम को पुरुष और महिला दोनों वर्गो में कांस्य पदक हासिल हुआ है जबकि टीम नें व्यक्तिगत वर्ग में 2 स्वर्ण ,1 रजत और 4 कांस्य पदक हासिल करते हुए शतरंज ओलंपियाड इतिहास में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया है ।

PunjabKesari

महिला टीम स्पर्धा में हाथ से निकला स्वर्ण

हालांकि भारत अंतिम दिन तक स्वर्ण पदक का प्रमुख दावेदार था लेकिन अंतिम दिन भारत को यूएसए के हाथो अप्रत्याशित हार का सामना करना पड़ा और इस स्थिति में भारत को पीछे छोड़ते हुए उक्रेन नें स्वर्ण तो जॉर्जिया नें रजत पदक पर कब्जा जमा लिया । उक्रेन नें पोलैंड को 3-1 से तो जॉर्जिया नें अजरबैजान को 3-1 से मात देते हुए कुल 18 अंको के साथ प्रतियोगिता का समापन किया । भारत के लिए कोनेरु हम्पी नें गुलरुखबीगिम तोखिरजोनोवा से तो आर वैशाली नें इरिना कृष से ड्रॉ खेला जबकि तानिया सचदेव यिप क्रासिया से तो भक्ति कुलकर्णी ताटेव अबरहमयन से पराजित हो गयी और भारत 1-3 से मुक़ाबला हार गया और 17 अंक लेकर तीसरे स्थान पर रहा । महिला वर्ग में भारत का यह पहला ओलंपियाड पदक है ।

PunjabKesari

पुरुष वर्ग में भारत ने जर्मनी को 3-1 से हराया

पुरुष वर्ग में भारत की बी टीम नें जर्मनी को 3-1 से पराजित करते हुए कांस्य पदक पर कब्जा जमाया ,कल उज्बेकिस्तान के हाथो अंतिम समय में 2-2 से मुक़ाबला ड्रॉ होने से भारत उज्बेकिस्तान और अर्मेनिया से 1 अंक पीछे होकर स्वर्ण पदक की दौड़ में पिछड़ गया था और आज उज्बेकिस्तान नें स्पेन को 2.5-1.5 से तो अर्मेनिया नें नीदरलैंड को 2.5-1.5 से पराजित करते हुए 19 अंको के साथ क्रमशः स्वर्ण और रजत पदज अपने नाम किया । भारत की बी टीम में गुकेश नें विन्सेंट केमर तो प्रग्गानंधा नें स्वाने रुसमुस से ड्रॉ खेला जबकि निहाल सरीन नें मेथ्यु ब्लूबम को रौनक साधवानी नें निसीपियनू डिटर को मात देते हुए टीम को 3-1 से जीता दिया । भारत की प्रमुख टीम नें आज यूएसए से 2-2 से ड्रॉ खेला और चौंथे स्थान पर रही जबकि यूएसए को पाँचवाँ स्थान हासिल हुआ ।

PunjabKesari

गुकेश और निहाल को व्यक्तिगत स्वर्ण पदक

टीम स्पर्धा में दो कांस्य जीत नया इतिहास बनाने वाली भारतीय टीम नें व्यक्तिगत तौर पर भी 7 पदक जीतकर नया इतिहास बना दिया इससे पहले  भारत नें किसी भी ओलंपियाड में अधिकतम 2 व्यक्तिगत पदक हासिल किए थे । डी गुकेश नें पुरुष वर्ग के पहले बोर्ड पर 11 मैच खेलकर ,8 जीत ,2 ड्रॉ और 1 हार के साथ 9 अंक बनाकर स्वर्ण पदक हासिल किया तो निहाल सरीन नें दूसरे बोर्ड पर 10 मैच खेलकर 5 जीत और 5 ड्रॉ से अविजित रहकर 7.5 अंक बनाकर स्वर्ण पदक हासिल किया जबकि तीसरे बोर्ड पर 11 मैच खेलकर 8.5 अंक बनाने वाले अर्जुन एरिगासी को रजत पदक तो 9 मैच खेलकर 6.5 अंक बनाने वाले प्रग्गानंधा को कांस्य पदक मिला । वहीं महिला वर्ग में तीसरे बोर्ड पर आर वैशाली , चौंथे बोर्ड पर तानिया सचदेव और पांचवें बोर्ड पर दिव्या देशमुख नें कांस्य पदक हासिल किया ।

.
.
.
.
.