Sports

नई दिल्ली : ब्रिटेन के दिग्गज मुक्केबाज आमिर खान ने शुक्रवार को यहां कहा कि भारतीय मुक्केबाज विजेन्दर सिंह उनसे ‘डरे' हुए हैं। आमिर 12 जुलाई को जेद्दा में होने वाली सुपर बॉक्सिंग लीग के प्रदर्शनी मुकाबले में भारतीय मुक्केबाज नीरज गोयत के खिलाफ रिंग में उतरेंगे। पाकिस्तानी मूल के इस ब्रिटिश मुक्केबाज ने ओलंपिक कांस्य पदक विजेता विजेन्दर से भिड़ंत की कई बार इच्छा जतायी लेकिन दोनों के बीच अब तक मुकाबला नहीं हो सका। 

विजेन्दर के खिलाफ मुक्केबाजी करने की चाहत में 32 साल का यह मुक्केबाज गोयत के खिलाफ रिंग में उतरने के लिए अपने भार वर्ग में बदलाव को तैयार हो गया। गोयत के खिलाफ ‘द शाइनिंग ज्वेल' नाम की बाउट की घोषणा के मौके पर दो बार के इस विश्व चैम्पियन ने कहा, ‘मैंने कई बार विजेन्दर के खिलाफ लड़ने की इच्छा जतायी लेकिन मुझे लगता है कि वह मुझसे डरे हुए हैं।' उन्होंने कहा, ‘यह ऐसा मुकाबला है जहां एक भारतीय मुक्केबाज विश्व चैम्पियन के खिलाफ खेलेगा और मुझे इस बात की खुशी है कि गोयत ने इस चुनौती को स्वीकार किया। जो काम विजेन्दर नहीं कर सके वह गोयत करेंगे। 

पाकिस्तान के रावलपिंडी के कठुआ तहसील के माटोर गांव से ताल्लुक रखने वाले आमिर पेशेवर बनने से पहले 17 साल की उम्र में ओलंपिक पदक जीतने वाले ब्रिटेन के सबसे कम आयु के मुक्केबाज बने थे। उन्होंने यह कारनामा 2004 में एथेंस ओलंपिक में रजत पदक जीत कर किया था। सुपर बॉक्सिंग लीग के निर्माता बिल दोसांज ने कहा कि आमिर के खिलाफ रंग में उतरने के लिए विजेन्दर को अपने खेल में काफी सुधार करना होगा। दोसांज ने कहा, ‘विजेन्दर को अपने खेल में सुधार करना होगा। उन्होंने अपने पेशेवर करियर में अब तक किसी विश्व चैम्पियन का सामना नहीं किया है।' 

गोयत डब्ल्यूबीसी एशिया वेल्टरवेट खिताब धारक है। उनके नाम दो नाकआउट सहित 11 जीत, दो हार और दो ड्रा हैं। आमिर ने कहा कि उनकी प्रतिष्ठा दांव पर है और वह गोयत को हल्के में नहीं लेंगे। उन्होंने कहा, ‘मैं इस बाउट के लिए ब्रिटेन में तैयारी करुंगा। मुझे शत प्रतिशत तैयार रहना होगा। गोयत के लिए इस मुकाबले से खोने के लिए कुछ नहीं है। गोयत मिश्रित मार्शल आर्ट फाइटर रहे हैं और उन्होंने अपने भार वर्ग में मुकाबले के लिए तैयार होने के लिए आमिर का शुक्रिया किया। 

गोयत ने कहा, ‘मैं हमेशा आमिर के खिलाफ रिंग में उतरना चाहता था लेकिन मेरी शर्त सिर्फ यह थी कि वह वेल्टरवेट वर्ग में खेले। वह दमदार खिलाड़ी है क्योंकि उन्होंने मेरा प्रस्ताव स्वीकार कर लिया।' गोयत से जब इस मुकाबले की तैयारी के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘मेरे लिए पुणे स्थित सेना खेल संस्थान अभ्यास के लिए सबसे सही जगह है। अपने पिछले मुकाबले के लिए मैंने वही अभ्यास किया था और अब आमिर के खिलाफ मुकाबले के लिए भी वहीं अभ्यास करुंगा।' 

.
.
.
.
.