Sports

लंदन : कोलकाता नाइट राइडर्स के कोच और पूर्व न्यूज़ीलैंड कप्तान ब्रेंडन मैक्कुलम को इंग्लैंड के टेस्ट टीम का कोच नियुक्त किया है। इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) द्वारा की गई नियुक्ति के अनुसार उनका अनुबंध चार साल का होगा। मौजूदा आईपीएल सीजन की समाप्ति पर मक्कलम कोलकाता की कमान छोड़ देंगे।

उन्होंने अपने जीवन में 2004 और 2016 के बीच न्यूज़ीलैंड के लिए 101 टेस्ट खेले और अपने देश का इकलौता तिहरा शतक भी उन्होंने 2014 में भारत के खिलाफ लगाया था। बतौर टेस्ट बल्लेबाज़ उन्होंने 302 के सर्वाधिक स्कोर और 38.64 के औसत से 6453 रन बनाए। मैक्कुलम ने अपने कोचिंग जीवन में केवल सफेद गेंद क्रिकेट को ही संभाला है लेकिन उन्होंने न्यूज़ीलैंड की टेस्ट कप्तानी 2013 से लेकर खेल से संन्यास लेने तक की। मैक्कुलम अपनी सकारात्मक कप्तानी के लिए जाने जाते थे और वह 2015 50-ओवर विश्व कप में भी अपने टीम को आक्रामक क्रिकेट खिलाते हुए फाइनल तक ले गए थे। 

 

2020 में कैरिबियन प्रीमियर लीग विजेता ट्रिनबैगो नाइट राइडर्स के भी वही मुख्य कोच थे। मैक्कुलम का इंग्लैंड आना कोलकाता के आईपीएल अभियान के समापन पर निर्भर है। फिलहाल दो बार विजेता रही इस टीम के प्लेऑफ में पहुंचने के आसार कम हैं लेकिन असंभव नहीं। उनका आखिरी लीग मुक़ाबला 18 मई को लखनऊ सुपर जायंट्स के विरुद्ध खेला जाएगा और अगर वर्क पर्मिट सही समय पर मिल जाए तो वह 2 जून से लॉर्ड्स में न्यूज़ीलैंड के खिलाफ होने वाले पहले टेस्ट से पूर्व ही नए टेस्ट कप्तान बेन स्टोक्स के साथ जुड़ सकेंगे।

मैक्कुलम ने एक कहा कि मैं टीम में मौजूदा चुनौती और परिस्थिति को जानते हुए यह जिम्मेदारी ले रहा हूं। मेरी रॉब की के साथ कुछ अच्छे बातचीत हो चुकी हैं और मैं टीम में सुधार लाने की प्रक्रिया को शुरू करने के लिए उत्सुक हूं। इस काम को अंजाम देने के लिए बेन स्टोक्स से बेहतर कोई व्यक्ति शायद ही हो और मैं उनके साथ एक सफल और बेजोड़ टीम बनाने का माद्दा रखता हूं। 

.
.
.
.
.