Sports

नई दिल्ली : बीसीसीआई ने भारतीय टीम के प्रशासनिक प्रबंधक सुनील सुब्रमण्यम को कैरेबियाई सरजमीं में भारतीय उच्चायोग के वरिष्ठ अधिकारियों से कथित दुर्व्यवहार के कारण वेस्टइंडीज दौरे के बीच से वापस बुलाने का फैसला उनके ‘बिना शर्त माफी मांगने' के बाद वापस ले लिया। बीसीसीआई ने मैनेजर को दौरे के बीच से वापस बुलाने का मन बना लिया था लेकिन प्रशासकों की समिति के प्रमुख विनोद राय ने उनके माफी मांगने के बाद उन्हें कड़ी फटकार लगाकर छोड़ दिया।

राय ने कहा, ‘सुनील सुब्रहमण्यम को नहीं पता था कि भारत सरकार की ओर से यह अनुरोध था। मैने शुरू में उन्हें वापस बुलाने का सोचा लेकिन शाम को उन्होंने बिना शर्त माफी मांग ली। मैने उन्हें बाकी दौरे के लिए भी टीम के साथ ही रखने का फैसला लिया है।' उन्होंने कहा, ‘उनकी माफी स्वीकार कर ली गई है। वह दौरे पर बने रहेंगे।' इससे पहले बीसीसीआई के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा था कि सुब्रमण्यम को मुंबई में बीसीसीआई के मुख्य कार्यकारी अधिकारी राहुल जौहरी के समक्ष पेश होना होगा और भारतीय विदेश सेवा (आईएफएस) के वरिष्ठ अधिकारी से इस कथित दुर्व्यवहार का जवाब देना होगा।

आईएफएस अधिकारी ने ‘जल सरंक्षण' को बढ़ावा देने के लिए खिलाड़ियों के साथ एक वीडियो शूट के सरकार के अनुरोध के लिये संपर्क किया था। बोर्ड के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘भारतीय टीम की ‘जल सरंक्षण' परियोजना के लिए काफी लंबी शूटिंग थी और उन्हें इसकी देखरेख करनी थी। इस शूटिंग के समाप्त होने पर उन्हें एक ईमेल भेजा गया जिसमें उन्हें पहली फ्लाइट लेकर वापस लौटने को कहा गया।' यह देखना होगा कि सुब्रमण्यम को प्रशासनिक प्रबंधक के साक्षात्कार के लिए पेश होने का मौका मिलेगा या नहीं, जिन्हें छंटनी के बाद इसके लिए चुना गया था। रविचंद्रन अश्विन के पूर्व कोच सुब्रमण्यम ने 74 प्रथम श्रेणी मैच खेले हैं और 285 विकेट चटकाए हैं। 

.
.
.
.
.