Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : क्रिकेट के मैदान में आए दिन ऐसा देखने को मिलता है जब बाॅल बेल्स से टकराती तो हैं लेकिन भाग्य बल्लेबाज के साथ होता है और वह गिरती नहीं। ऐसा ही कुछ एशेज सीरीज के पहले मैच में इंग्लैंड की पारी के दौरान देखने को मिला। इंग्लैंड टीम के कप्तान जो रूट जब बल्लेबाजी कर रहे थे तो गेंद स्टंप्स को छूकर निकल गई लेकिन बेल्स के ना गिरने से वह आउट होते-होते बच गए। 

इंग्लैंग की पहली पारी के दौरान रूट ने अभी 9 रन ही बनाए थे। इस दौरान 21वें ओवर में ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज पैटिंसन की एक गेंद को पढ़ने में नाकाम रूट रहे। हालांकि भाग्य ने उनका साथ दिया और बाॅल उनके बल्ले से ना लगकर बेल्स पर जा लगी और अंपायर जोएल विल्सन ने आउट का इशारा कर दिया। इसके बाद रूट ने रिव्यू लिया और वह आउट होने से बच गए क्योंकि बाॅल बल्ले से नहीं लगी थी। और बेल्स भी नहीं गिरी जिस कारण वह आउट होने से बच गए।

 

इसके बाद रूट ने संभल कर खेला और लंच तक अपना विकेट बचाए रखा। लेकिन लंच के बाद वह पीटर सिडल की 50वें ओवर की आखिरी गेंद का शिकार बने और 119 गेंदों की 6 चौकों की मदद से 57 रनों की पारी खेलकर पवेलियन लौट गए। 

.
.
.
.
.