Sports

नई दिल्ली: स्टार भारतीय पहलवान बजरंग पूनिया विश्व कुश्ती की नवीनतम रैंकिंग में दूसरे स्थान पर बरकरार है जिससे उन्हें 65 किलोग्राम वर्ग में अगले साल के तोक्यो ओलंपिक में शीर्ष चार में वरीयता मिलना लगभग तय है। तेजी से उभरते रवि दहिया को भी जो अगले साल 23 जुलाई से आठ अगस्त तक होने वाले इस बड़े प्रतियोगिता में शीर्ष चार वरीयता मिलना तय है। कुश्ती का संचालन करने वाली वैश्विक इकाई (यूडब्ल्यूडब्ल्यू) की नवीनतम रैंकिंग में बजरंग दूसरे जबकि बेहद ही प्रतिस्पर्धी माने जाने वाले 57 किग्रा में दहिया चौथे स्थान पर है।

रूस के ओलंपिक चैम्पियन गधजिमुराद रशीदोव 65 किग्रा में 60 अंक के साथ शीर्ष पर है जबकि बजरंग के नाम 59 अंक है। पिछले सत्र में नूर-सुल्तान में स्वर्ण का जीत कर रशीदोव ने 65 किलोग्राम में शीर्ष स्थान पर अपनी जगह पक्की की थी। बजरंग साल की शुरुआत विश्व चैम्पियनशिन में कांस्य पदक जीतने के बाद 25 अंकों के साथ तीसरे रैंकिंग से करने के बाद कजाखस्तान के दौलत नियाजबेखोव की जगह दूसरे स्थान पर पहुंचे थे। नियाजबेखोव मैजूदा रैंकिंग में भी 56 अंक के साथ तीसरे स्थान पर है। रूस के विश्व चैंपियन और जाउर यूग्वे (60 अंक) के साथ 57 किग्रा की रैंकिंग में शीर्ष पर है। विश्व चैम्पियनशिप के उप विजेता सुलेमान 58 अंक के साथ दूसरे जबकि स्टीवन माइक (48) और दहिया (45) हैं क्रमश: तीसरे और चौथे स्थान पर है।

विश्व चैम्पियनशिप के रजत पदक विजेता दीपक पुनिया 65 किलोग्राम में ईरान के दिग्गज हसन यजदानी के बाद दूसरे स्थान पर है। यजदानी ने इस साल की शुरुआत में घुटने की सर्जरी कराई थी जिसके बाद वह मैटेलो पेलकोनिक और एशियाई चैंपियनशिप में भाग नहीं ले सके थे। यजदानी ने दीपक पर 20 अंकों की बढ़त हासिल की थी लेकिन भारतीय पहलवान ने एशियाई चैंपियनशिप में कांस्य-पदक के साथ 14 अंकों की यजदानी के अंतर को कम किया। ओलंपिक के अन्य तीन भार वर्ग में 74 किग्रा, 97 किग्रा और 125 किग्रा के शीर्ष -10 में कोई भारतीय पहलवान नहीं है। हर भार वर्ग के शीर्ष चार खिलाड़ियों को तोक्यो ओलंपिक में वरीयता दी जाएगी। कोविड-19 महामारी के कारण ओलंपिक को एक साल के लिए टाल दिया गया जिसका आयोजन अब 2021 में होगा। 

.
.
.
.
.