Sports

बेंगलुरू : द्रोणाचार्य पुरस्कार विजेता एथलेटिक्स कोच एन लिंगप्पा का मंगलवार को यहां निधन हो गया। वह 95 बरस के थे और पारिवारिक सूत्रों ने बताया कि आयु संबंधित परेशानियों के कारण उनका अपने निवास पर निधन हुआ। कोच के रूप में योगदान के लिए लिंगप्पा को 2014 में प्रतिष्ठित द्रोणाचार्य पुरस्कार से नवाजा गया। 

अपने शानदार कोचिंग करियर के दौरान लिंगप्पा ने कई अंतरराष्ट्रीय एथलीटों को ट्रेनिंग दी जिसमें अश्विनी नाचप्पा और वंदना राव के अलावा पूर्व राष्ट्रीय मैराथन चैंपियन बीवाई बिराधर, उदय प्रभु और पीसी पोनप्पा (1970 में बैंकाक एशियाई खेलों में 400 मीटर रजत पदक विजेता) जैसे खिलाड़ी शामिल हैं। लिंगप्पा 10 किमी पैदल चाल के एथलीट थे और उन्होंने 1954 मनीला एशियाई खेलों की इस स्पर्धा के लिए क्वालीफाई किया था लेकिन यह रद्द हो गई। वह भारतीय एथलेटिक्स टीम के सहायक कोच भी रहे। 

.
.
.
.
.