Sports

अहमदाबाद : भारत और इंग्लैंड के बीच टेस्ट सीरीज के तीसरे मैच के दो दिन में ही समाप्त होने के बाद पिच की आलोचना करने वालों को दिग्गज ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने करारा जवाब दिया है और साथ ही सवाल उठाया है कि अच्छी पिच की परिभाषा क्या है यह समझाएं। अश्विन ने कहा कि मैच के बाद कई लोगों ने मुझसे मैसेज कर कहा कि यह केवल दो दिन में ही समाप्त हो गया। मैं उन लोगों से सवाल करना चाहता हूं कि गुलाबी गेंद से खेले गए उन सभी तीन टेस्ट मैचों के बारे में वे क्या कहेंगे जो भारत ने खेले और उन सभी का परिणाम केवल तीन दिन के भीतर ही आ गया। ऐसे लोग केवल पिच को लेकर अपनी राय व्यक्त कर देते हैं। इन लोगों ने संभवत: गुलाबी गेंद वाले टेस्ट मैच नहीं खेले हैं इसलिए इन्हें ऐसे टेस्ट मैच का अंदाजा नहीं है।

ऑफ स्पिनर ने कहा कि मेरी पूरी नाराजगी इस बात को लेकर है कि जो लोग पिच की आलोचना कर रहे हैं ऐसे लोग उस समय पिच को लेकर चुप रहते हैं जब हम मैच हारते हैं। किसी भी मैच में गेंदबाज बेहतर गेंदबाजी कर मैच को जीतना चाहते हैं जबकि बल्लेबाजों को रन बनाने के लिए शानदार तरीके से बल्लेबाजी कर मैच का रुख अपनी ओर मोड़ना होता है। इसको लेकर कोई सवाल नहीं है। बेहतर पिच कैसे बनाई जाती है इसे कौन परिभाषित कर सकता है। मैच के पहले दिन गेंद स्विंग करे उसके बाद बेहतर बल्लेबाजी हो और अंतिम दो दिनो में गेंद स्पिन करे। इन नियमों को कौन बनाता है, हमें इन सबसे ऊपर उठना होगा। 

टेस्ट क्रिकेट में 400 विकेट लेने वाले अश्विन ने कहा कि मुझे नहीं लगता कि इंग्लैंड के खिलाड़यिों को ऐसी पिचों से कोई परेशानी है। वे बेहतर क्रिकेट खेलना चाहते हैं, लेकिन कुछ ऐसे लोग हैं जो मैदान के बाहर बैठकर चाहते हैं कि उनके खिलाड़ी पिच की आलोचना करें। हमने अपने किसी भी विदेशी दौरे में पिच को लेकर कभी कुछ नहीं कहा।

अश्विन ने पिच की आलोचना करने वालों से सवाल करते हुए कह कि आप पिच को लेकर बार-बार हमसे ही क्यों सवाल करते हैं। क्या ऐसा कभी हुआ है कि हम किसी देश के दौरे पर गए हों और वहां पिच को लेकर ऐसे सवाल खड़े किए गए हों। हमारे देश की मीडिया में हर जगह यह मुद्दा छाया हुआ है। अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में खेले गए तीसरे टेस्ट मैच में इंग्लैंड की टीम अपनी पहली पारी में 112 जबकि दूसरी पारी में केवल 81 रन पर ऑलआउट हो गयी थी। भारत ने अपने स्पिन गेंदबाज अक्षर पटेल और अश्विन के शानदार प्रदर्शन के दम पर यह मैच 10 विकेट से जीत लिया था। 

.
.
.
.
.