Sports

पेरिस : भारत की अंकिता रैना महिला एकल के पहले दौर के कड़े मुकाबले में मंगलवार को जोवाना जोविच को हराकर फ्रेंच ओपन टेनिस टूर्नामेंट क्वालीफायर के दूसरे दौर में पहुंच गई जबकि पुरुष एकल में हार के साथ रामकुमार रामनाथन का पहली बार किसी ग्रैंडस्लैम के मुख्य ड्रा में खेलने का सपना टूट गया।

अंकिता ने दो घंटे 47 मिनट तक चले मुश्किल मुकाबले में सर्बिया की खिलाड़ी को 6-4 4-6 6-4 से शिकस्त दी। मैच के बाद अंकिता ने कहा, ‘इससे पहले पिछले दो साल मैं यहां अच्छा खेलने के बाद थी जीतने में सफल नहीं रही थी। इस बार हालांकि ऐसा नहीं हुआ। मैं अपना सर्वश्रेष्ठ टेनिस नहीं खेल सकी लेकिन जीतने में कामयाब रहीं।' उन्होंने कहा, ‘वह (जोविच) लय में थी और उसके खेल में काफी विविधता है। मेरे पास दूसरे सेट में जीतने का मौका था लेकिन यह संभव नहीं हुआ।' 

दोनों खिलाड़ियों के बीच 2014 के बाद यह पहला मुकाबला था। तब जोविच भारतीय खिलाड़ी पर भारी पड़ी थी। अंकिता क्वालीफायर के दूसरे मुकाबले में 22वीं वरीयता प्राप्त जापान की कुरुमी नारा की चुनौती का सामना करेंगे। वह किसी ग्रैंड स्लैम क्वालीफायर में दूसरे दौर से आगे नहीं बढ़ी सकी है। मुख्य ड्रा में जगह बनाने के लिए उन्हें अब लगातार दो मैच जीतने होंगे। ऑस्ट्रेलियाई ओपन 2012 में सानिया मिर्जा के बाद किसी भी भारतीय महिला ने ग्रैंडस्लैम के मुख्य ड्रा में जगह नहीं बनाई है।।

भारत के डेविड कप खिलाड़ी और विश्व रैंकिंग में 198वें स्थान पर काबिज रामनाथन को फ्रांस के वाइल्ड कार्डधारी टी लामासाइन ने 7-5, 6-2 से हराया। वह विश्व रैंकिंग में 268वें स्थान पर है। इस 25 साल के भारतीय खिलाड़ी ने आठ में से सात ब्रेकप्वाइंट गंवाए। पहले दौर के मुकाबले में दो बार उनकी सर्विस टूटी। देश के शीर्ष एकल खिलाड़ी सुमित नागल पहले ही बाहर हो चुके हैं। अब पुरूष एकल में भारत की चुनौती सिर्फ प्रजनेश गुणेश्वरन के रूप में बची है। रामनाथन 2015 से ग्रैंडस्लैम मुख्य ड्रा में प्रवेश की कोशिश में लगे हैं लेकिन कामयाब नहीं हो सके। 

.
.
.
.
.