Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : पूर्व ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर एंड्रयू साइमंड्स का सड़क हादसे में निधन हो गया है। लेकिन इस हादसे के दौरान उनका पालतु कुत्ता हादसे में बाल-बाल बच गया। लेकिन वह पूर्व क्रिकेटर के शव को छोड़ने के लिए तैयार नहीं था। 

घटना के एक गवाह ने खुलासा किया कि उसके साथी ने क्रिकेटर को पुनर्जीवित करने की कोशिश की लेकिन उसकी मौके पर ही मौत हो गई। उसने यह भी खुलासा किया कि साइमंड्स के दो कुत्ते कार में उसके साथ थे और दोनों किसी तरह जीवित रहने में सफल रहे। हालांकि उनके मालिक के निधन से उनका दिल टूट गया क्योंकि कुत्तों में से एक साइमंड्स के शव को छोड़ने के लिए तैयार नहीं था। 

एक रिपोर्ट में गवाह के हवाले से कहा गया कि जब हम वहां पहुँचे तो हमें एक कार उलटी दिखाई दी जिसमें एक आदमी था। उनमें से एक (कुत्ता) बहुत संवेदनशील था और उसे छोड़ना नहीं चाहता था। हर बार जब हम उसे ले जाने या उसके पास जाने की कोशिश करते हैं, तो आप पर गुर्राता। उसने पहले कहा था कि उसके साथी ने उसकी जान बचाने की कोशिश की, लेकिन ऐसा नहीं कर सका क्योंकि नब्ज नहीं थी। उक्त गवाह ने कहा कि मेरे साथी ने (साइमंड्स) को कार से बाहर निकालने की कोशिश की, उसे अपनी पीठ पर बिठाने के लिए। वह बेहोश था, प्रतिक्रियाशील नहीं दी और उसकी नब्ज भी नहीं थी। 

साइमंड्स अब तक के सबसे प्रसिद्ध ऑस्ट्रेलियाई ऑलराउंडरों में से एक थे और उनके निधन की खबर ने पूरे क्रिकेट जगत को स्तब्ध कर दिया। प्रशंसकों और क्रिकेट सितारों ने श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए शोक व्यक्त किया। 21वीं सदी के पहले दशक में साइमंड्स ऑस्ट्रेलियाई टीम का अहम हिस्सा थे। उन्होंने कई शानदार पारियां खेली और ऑस्ट्रेलियाई टीम को कई यादगार जीत दिलाई। साइमंड्स ने 2003 और 2007 विश्व कप में ऑस्ट्रेलिया को ट्रॉफी दिलाने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। 

.
.
.
.
.