Sports
मुंबई, 13 अक्टूबर (भाषा) महाराष्ट्र बैडमिंटन संघ (एमबीए) ने राज्य के खेल मंत्री सुनील केदार को पत्र लिखकर राज्य में खेल की बहाली का आग्रह किया है क्योंकि कोविड-19 के कारण लगाये गये लॉकडाउन से कई प्रशिक्षकों की आजीविका बुरी तरह प्रभावित हुई है।
केदार को लिखे पत्र में संघ के अध्यक्ष अरुण लखानी ने अन्य राज्यों का उदाहरण दिया है जहां मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) का पालन करते हुए बैडमिंटन अकादमियां खोल दी गयी हैं क्योंकि यह सीधे संपर्क वाला खेल नहीं है।

पता चला है कि महाराष्ट्र के लगभग 200 प्रशिक्षकों ने राज्य बैडमिंटन संघ को पत्र लिखकर बताया है कि लॉकडाउन के कारण वह किस तरह से प्रभावित हुए हैं।
लखानी ने मंत्री को पत्र में लिखा है, ‘‘सारे राज्य में प्रशिक्षक बुरी तरह से प्रभावित हुए हैं क्योंकि उनके पास आजीविका का कोई अन्य साधन नहीं है। इसी तरह से राज्य के कई सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों के पास अभ्यास के लिये किसी अन्य राज्य में जाने के अलावा कोई विकल्प नहीं है जिससे राज्य को बड़ा नुकसान हो रहा है। ’’
उन्होंने लिखा है, ‘‘इसलिए हम आपसे राज्य में तुरंत प्रभाव से बैडमिंटन गतिविधियों को बहाल करने की अनुमति देने का अनुरोध करते हैं।’’
महाराष्ट्र कोविड-19 से सर्वाधिक प्रभावित राज्य रहा है जहां अभी तक 15 लाख से अधिक मामले सामने आये हैं।


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।
.
.
.
.
.