Sports
चेन्नई, आठ फरवरी (भाषा) तेज गेंदबाज ईशांत शर्मा की पिछले 14 वर्षों की मेहनत को अनुकरणीय करार देते हुए अनुभवी स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने कहा कि वह चाहते है कि उनका यह साथी गेंदबाज टेस्ट मैचों में 400 विकेट हासिल कर भारत के उभरते हुए तेज गेंदबाजों के लिए एक ‘रोडमैप ’ तैयार करें।
भारत की मौजूदा टेस्ट टीम में इशांत शर्मा सबसे अनुभवी खिलाड़ी है जो अपना 98वां टेस्ट मैच खेल रहे है। वह दिग्गज कपिल देव (434) और जहीर खान (311) के बाद टेस्ट में 300 विकेट लेने वाले तीसरे भारतीय तेज गेंदबाज है।
अश्विन ने इंग्लैंड के खिलाफ यहां जारी पहले टेस्ट के चौथे दिन के खेल के बाद कहा, ‘‘देखिये, इशांत इस भारतीय टीम के सबसे अधिक मेहनत करने वाले खिलाड़ियों में से है।’’
उन्होंने कहा, ‘‘ उन्हें इस वजह से भी अधिक मेहनत करनी होती है क्योंकि वह लंबे (छह फुट चार इंच) कद के खिलाड़ी है और करियर के दौरान खुद को फिट रखने के लिए बहुत मेहनत करनी होती है। वह लगभग 14 वर्षों से खेल रहे है।’’
इशांत 100 टेस्ट के आंकड़े से महज दो टेस्ट दूर है और वह ऐसा करने वाले देश के सिर्फ दूसरे गेंदबाज बन सकते है। इस प्रारूप में खुद 385 विकेट झटकने वाले अश्विन ने कहा कि टेस्ट मैचों का शतक अपने आप में एक उपलब्धि है।

उन्होंने कहा, ‘‘ इशांत ऑस्ट्रेलिया (2007-08) गये थे और उन्होंने रिकी पोंटिंग का विकेट लिया। इसके बाद चोट के बावजूद वह कई दौरों पर गये। किसी तेज गेंदबाज के लिए भारत के लिए 100 टेस्ट खेलना कोई मजाक नहीं है और यह बेहद ही शानदार उपलब्धि है।’’
उन्होंने कहा, ‘‘मैं इशांत को इसकी बधाई दूंगा लेकिन मैं चाहता हूं कि वह 400 या शायद 500 विकेट लेकर भारत के भविष्य के तेज गेंदबाजों के लिए रोडमैप तैयार करें।’’
उन्होंने कहा कि इशांत हमें खुश रहने वाले खिलाड़ी है और हर परिस्थिति में उनके चेहरे में हमेशा मुस्कान रहती है।



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।
.
.
.
.
.