Sports
नयी दिल्ली, 21 नवंबर (भाषा) उपराज्यपाल किरण बेदी ने थुटीपेट में स्टेडियम के निर्माण को अवैध करार दिया जिसके बाद पांडिचेरी क्रिकेट संघ (सीएपी) ने अपने टी20 लीग को अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया है
सीएपी के मानद सचिव वी चंद्रन ने शनिवार को कहा, ‘‘ सीएपी का मानना है कि उपराज्यपाल डॉक्टर किरण बेदी को दिनांक 12 नवंबर को एक पत्र जारी नहीं करना चाहिए था और इसे सोशल मीडिया के माध्यम से वायरल नहीं करना चाहिये था। इससे सीएपी और भूमि मालिकों की प्रतिष्ठा को नुकसान पहुँचाए है। हमें अपनी तथ्यात्मक स्थिति को स्पष्ट करने का मौका भी नहीं दिया गया।’’
चंद्रन ने अपने पत्र में इसे ‘अफसोसजनक’ करार दिया कि बेदी ने ‘प्रतिष्ठित क्रिकेट केंद्र’ का समर्थन करने से इनकार कर दिया है, जिसमें एक अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम के साथ आठ पूर्ण आकार के क्रिकेट स्टेडियम है। इसके निर्माण के लिए बीसीसीआई से भी कोई रकम नहीं ली गयी है।

उन्होंने कहा, ‘‘ यह काफी अफसोस की बात है कि उपराज्यपाल के तहत सरकारी एजेंसियों ने प्रतिष्ठित क्रिकेट केंद्र का समर्थन करने से इनकार करने दिया जो पांडिचेरी की पहचान की तरह है। इतना ही नहीं बिना उचित जांच के इसे ध्वस्त करने का आदेश दिया गया है।’’
उन्होंने गलत तरीके से दंडित करने का आरोप लगाते हुए कहा, ‘‘बिना सूचना के पानी की आपूर्ति और बिजली की आपूर्ति भी बंद कर दी। कोविड-19 जांच के लिए भी कोई समर्थन नहीं दिया गया।’’


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।
.
.
.
.
.