Sports
नयी दिल्ली, 16 अक्टूबर (भाषा) भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) की शनिवार को होने वाली शीर्ष परिषद की बैठक में आस्ट्रेलिया दौरे के शुरू होने से पहले ब्रिसबेन में 14 दिन के पृथकवास समय और इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू श्रृंखला के स्थलों और प्रारूप पर चर्चा की जायेगी।

बीसीसीआई के तीन शीर्ष अधिकारी - अध्यक्ष सौरव गांगुली, सचिव जय शाह और कोषाध्यक्ष अरूण धूमल - इस समय इंडियन प्रीमियर लीग के आयोजन की देखरेख के लिये संयुक्त अरब अमीरात में हैं।

वर्चुअल होने वाली इस बैठक के एजेंडे में पांच विषय होंगे जिनमें से घरेलू क्रिकेट परिचालन और अंतरराष्ट्रीय मैचों के कार्यक्रम पर मुख्य रूप से चर्चा की जायेगी।

एजेंडा का तीसरा विषय घरेलू क्रिकेट होगा जो कोविड-19 के बढ़ते मामलों के कारण अभी तक शुरू नहीं हो पाया है और यह पहले से निष्कर्ष लगाया जा सकता है कि जब भी 2020-21 सत्र शुरू होगा, इसे छोटा कर दिया जायेगा।

इंडियन प्रीमियर लीग के बाद दुबई से क्वींसलैंड में ब्रिसबेन जाने वाले बड़े भारतीय दल के लॉजिस्टिक्स और परिचालन को लेकर गहन चर्चा होगी। उम्मीद है कि सभी तीनों प्रारूपों से कम से कम 28 खिलाड़ी सहयोगी और प्रशासनिक स्टॉफ के साथ विशेष विमान में एक साथ यात्रा करेंगे।

बीसीसीआई के एक सूत्र ने गोपनीयता की शर्त पर कहा, ‘‘क्रिकेट आस्ट्रेलिया ने एक मोटा-मोटा कार्यक्रम बनाया हुआ है जिसे अभी अंतिम रूप दिया जाना है। इस पर भी चर्चा होगी और साथ ही इस पर भी कि 14 दिन के पृथकवास में राहत संभव हो सकती है या नहीं। ’’
सूत्र ने कहा, ‘‘बीसीसीआई ने पहले ही क्वींसलैंड स्वास्थ्य विभाग से राहत देने के लिये अपील की हुई है। और अगर इसमें ट्रेनिंग करने का विकल्प संभव हो पायेगा तो यह अच्छा होगा। ’’
चर्चा का एक अन्य विषय इग्लैंड के खिलाफ होने वाली घरेलू श्रृंखला का कार्यक्रम है। हालांकि विशेषज्ञ त्योहारों के दिनों में कोविड-19 मामलों के बढ़ने का अनुमान लगा रहे हैं तो बीसीसीआई अभी केवल कई योजनायें ही बना सकता है।

दूसरा विकल्प होगा कि वह इंग्लैंड की मेजबानी संयुक्त अरब अमीरात में कर दे जो भारतीय टीम का दूसरा ‘घर’ बना हुआ है और जिसके क्रिकेट बोर्ड ने बीसीसीआई के साथ एक समझौते पत्र पर हस्ताक्षर किये हैं।

बीसीसीआई मौजूदा आई लीग क्वालीफायर के कोलकाता में आयोजन और गोवा में ‘बायो-बबल’ में होने वाली इंडियन सुपर लीग फुटबॉल के आयोजन से भी जानकारी ले सकता है।



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।
.
.
.
.
.