T20-world-cup-2021
Sports

नई दिल्ली : भारतीय महिला फुटबॉल टीम के मुख्य कोच थॉमस डेनेरबी का मानना है कि दक्षिण अमेरिका में फुटबॉल टूर्नामेंट में ब्राजील जैसी मजबूत टीम का सामना करने से यह पता चलेगा कि अगले साल होने वाले एएफसी (एशियाई फुटबॉल परिसंघ) एशियाई कप से पहले टीम किस स्थिति में है। भारतीय टीम 25 नवंबर से ब्राजील के मनौस में चार देशों के टूर्नामेंट के लिए शनिवार को यहां से रवाना हुई। चार देशों की इस टूर्नामेंट में भारत और मेजबान ब्राजील के अलावा चिली और वेनेजुएला के खिलाफ खेलने का मौका मिलेगा। 

डेनेरबी ने टीम की रवानगी से पहले यहां कहा, ‘यह दौरा और पिछले दो महीने से हमने जो भी तैयारी की हैं, वह जनवरी में शुरू होने वाले एएफसी महिला कप की तैयारी के लिए है।' उन्होंने कहा, ‘यह (दौरा) इस चीज के आकलन के लिए है कि हमने जो तैयारी की है, उसे मैदान पर कैसे उतार पाते है और हम हर विभाग में अपने प्रदर्शन का मूल्यांकन करेंगे।' फीफा रैंकिंग में 57वें स्थान पर काबिज भारतीय टीम को 25 नवंबर को ब्राजील का सामना करना है। 

विश्व रैंकिंग में 37वें स्थान की टीम चिली के खिलाफ उसे 28 नवंबर और वेनेजुएला (विश्व रैंकिंग 56) के खिलाफ एक दिसंबर को भिड़ना है। डेनेरबी ने कहा कि तीन मजबूत टीमों के खिलाफ सकारात्मक परिणाम हासिल करना ही इस दौरे का एकमात्र उद्देश्य नहीं हो सकता है। उन्होंने कहा, ‘हमें तीन मजबूत टीमों के खिलाफ खेलना है। ब्राजील के खिलाफ पहला मैच महत्वपूर्ण होगा। चिली और वेनेजुएला भी अच्छी टीमें हैं लेकिन ब्राजील के स्तर पर नहीं है। इन तीनों मैचों में हमारे लिए अच्छा प्रदर्शन जरूरी है।' 

भारतीय महिला टीम की कप्तान आशालता देवी ने कहा कि टीम के अपने लक्ष्य भी हैं जिन पर खिलाड़ी ध्यान देंगे। उन्होंने कहा, ‘शिविर में बहुत उत्साह है क्योंकि ब्राजील एक बहुत अच्छी फुटबॉल टीम है, और हम खुद ब्राजील के बहुत सारे खिलाड़ियों का अनुसरण करते हैं। उनसे बहुत कुछ सीखने को मिलता है। यह हम सभी के लिए एक बड़ी प्रेरणा है।' 

.
.
.
.
.