Sports

अबुधाबी : अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहने वाले वेस्टइंडीज के हरफनमौला ड्वेन ब्रावो का कहना है कि उन्होंने भले ही टी-20 इंटरनैशनल से संन्यास ले लिया है लेकिन अगर उनके शरीर ने साथ दिया तो वह कुछ और वर्षों तक फ्रेंचाइजी क्रिकेट खेलने चाहते हैं। इस दिग्गज खिलाड़ी ने कहा कि उन्होंने वेस्टइंडीज टीम में युवा खिलाडिय़ों को मौका देने के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहा। उन्होंने पहले भी संन्यास लिया था लेकिन गत चैम्पियन वेस्टइंडीज को फिर से खिताब दिलाने के लिए 2019 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी की थी। वेस्टइंडीज का अभियान हालांकि सुपर 12 चरण के पांच मैचों सिर्फ एक जीत के साथ खत्म हुआ। 

franchise cricket, DJ Bravo, ENG vs SA, SA vs ENG, cricket news in hindi, sports news, T 20 world cup, T 20 world cup 21

ऑस्ट्रेलिया से मैच गंवाने के बाद ब्रावो ने कहा कि जब तक मेरा शरीर मुझे अनुमति देगा, मैं कुछ और वर्षों तक फ्रेंचाइजी क्रिकेट खेलना जारी रखूंगा। वेस्टइंडीज के लिए 18 साल तक खेलने वाले ब्रावो ने कहा कि मेरा उद्देश्य कुछ साल पहले ही संन्यास लेना था, लेकिन अध्यक्ष पद (वेस्टइंडीज क्रिकेट) और नेतृत्व परिवर्तन के बाद मेरा मन बदल गया। मैं शारीरिक रूप से फिट था और वेस्टइंडीज को वापस कुछ देना चाहता था। मैं अपने क्रिकेट का आनंद ले रहा था।

franchise cricket, DJ Bravo, ENG vs SA, SA vs ENG, cricket news in hindi, sports news, T 20 world cup, T 20 world cup 21

उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि यह मेरे लिए खेल (अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट) को अलविदा कहने का सही समय है । इससे अगली पीढ़ी और युवा खिलाडिय़ों को टीम में आने का मौका मिलेगा, जिनके साथ मेरी बहुत अच्छी दोस्ती है। ब्रावो ने उनके करियर का खास पल के बारे में पूछे जाने पर कहा कि लॉड्र्स के मैदान पर टेस्ट पदार्पण करना उनके करियर का सबसे यादगार पल है।

franchise cricket, DJ Bravo, ENG vs SA, SA vs ENG, cricket news in hindi, sports news, T 20 world cup, T 20 world cup 21

उन्होंने कहा कि वह खास पल था। जाहिर तौर पर मेरे बचपन की हीरो ब्रायन लारा कप्तान थे। वो बहुत खास था। 2004 में आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी जीतना मेरे लिए एक और खास पल था। उन्होंने कहा कि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मेरा पहला टेस्ट, एक और विशेष क्षण। और जाहिर है कि दो टी20 विश्व कप (खिताब) मेरे लिए काफी खास है। यह शानदार रहा कि मैं अपने पूरे करियर में कुछ सफलता हासिल करने में सफल रहा।

.
.
.
.
.