Sports

राजकोट : भारत के तेज गेंदबाज आवेश खान ने पहले तीन मैचों में विकेट नहीं मिलने के बाद दबाव महसूस किया लेकिन उन्होंने कहा कि मुख्य कोच राहुल द्रविड़ के भरोसे ने उन्हें चौथे टी-20 मैच में मैच जिताने वाला प्रदर्शन करने के लिए प्रेरित किया। आवेश ने अपने कैरियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए चौथे मैच में 18 रन देकर 4 विकेट लिए। उन्होंने कहा कि पिछले चार मैचों से टीम में बदलाव नहीं हुआ है जिसका श्रेय राहुल सर को जाता है। वह सभी को मौका देते हैं और लंबा मौका देते हैं।

उन्होंने कहा कि एक या दो खराब प्रदर्शन के बाद वह किसी को टीम से बाहर नहीं करते क्योंकि एक दो मैचों के आधार पर किसी खिलाड़ी का आकलन नहीं हो सकता। सभी को खुद को साबित करने के काफी मौके मिल रहे हैं। आवेश ने कहा कि हां मुझ पर दबाव था। तीन मैचों में मुझे विकेट नहीं मिली थी लेकिन राहुल सर और टीम प्रबंधन ने मुझे फिर मौका दिया और मैंने 4 विकेट लिए। यह मेरे पापा का बर्थडे भी था तो मेरी तरफ से उन्हें यह तोहफा था।

Wicket dedicated to my father, Rahul Dravid, Avesh Khan, IND vs SA, cricket news in hindi, मेरे पिता राहुल द्रविड़, आवेश खान, भारत बनाम दक्षिण अफ्रीका को समर्पित विकेट, क्रिकेट समाचार हिंदी में

इंदौर के इस तेज गेंदबाज ने कहा कि सलामी बल्लेबाज ईशान किशन से बात करने के बाद उन्होंने गेंदबाजी की रणनीति बनाई। उन्होंने कहा कि मैंने ईशान से बात की और उसने कहा कि हार्डलैंग्थ गेंद खेली नहीं जा रही। कुछ गेंदों को उछाल मिल रहा है और कुछ नीची रह रही है। मैंने स्टम्प पर आक्रमण करने की रणनीति बनाई और लगातार हार्ड लैंग्थ गेंद डाली। मेरा काम अच्छी गेंदबाजी करना है, विकेट मिलना मेरे हाथ में नहीं है।

टी-20 विश्व कप टीम में जगह बनाने की संभावना के बारे में उन्होंने कहा कि चयन मेरे हाथ में नहीं है। मैं हर मैच में अपना शत प्रतिशत देना चाहता हूं। मैं बाद में मलाल नहीं रखना चाहता कि मैने प्रदर्शन में कमी रखी।

.
.
.
.
.