Sports

वेलिंगटन: पहले टेस्ट से पूर्व न्यूजीलैंड का पलड़ा भारी बताते हुए भारतीय उपकप्तान अजिंक्य रहाणे ने कहा कि बेसिन रिजर्व की उछालभरी पिच पर पहली पारी में 320 रन का स्कोर अच्छा माना जाएगा। रहाणे ने कहा, ‘घरेलू हालात में न्यूजीलैंड का पलड़ा भारी होगा। उन्हें पता है कि कैसी गेंद डालनी है और बल्लेबाजों को पता है कि कौन से शाट खेलने हैं।' उन्होंने कहा, ‘एक ईकाई के रूप में हमें हालात के अनुरूप तेजी से ढलना होगा। न्यूजीलैंड के हर मैदान का आकार अलग है।'

भारत ने 2014 में लाडर्स पर और 2018 में एडीलेड पर पहली पारी में 300 से कम स्कोर बनाकर जीत दर्ज की और रहाणे के अनुसार वेलिंगटन में भी ऐसा हो सकता है। उन्होंने कहा, ‘पहले बल्लेबाजी करते हुए आपकी मनोदशा एकदम सकारात्मक होती है। ऐसा नहीं है कि पहले गेंदबाजी करने पर ऐसा नहीं होता । भारत के बाहर पहली पारी में 320 या 330 का स्कोर अच्छा कहा जाएगा।' रहाणे ने कहा, ‘हमने इंग्लैंड और आस्ट्रेलिया में जितने मैच जीते, पहली पारी में 320 या 350 के करीब रन बनाए थे।' भारतीय उपकप्तान ने कहा, ‘हमें पता है कि हमारे गेंदबाज हर हालात में विकेट ले सकते हैं लेकिन टास हारने पर पहले बल्लेबाजी करनी पड़े तो पता होना चाहिए कि हालात का सामना कैसे करना है।'

अजिंक्य रहाणे ने आगे कहा, ‘सीम लेती पिचों पर सही मानसिकता के साथ उतरना जरूरी है। गेंदबाजों पर भी सपाट पिचों पर गेंदबाजी करते समय यही बात लागू होती है। उन्हें सपाट पिचों पर 20 विकेट लेने का भरोसा होना चाहिए।' रहाणे ने कहा कि पिच के भीतर की नमी के कारण गेंद को कुछ टर्न मिलेगा। उन्होंने कहा, ‘गेंद टर्न ले सकती है क्योंकि विकेट के भीतर नमी है। शायद हर दिन पहले सत्र में गेंद टर्न ले। न्यूजीलैंड में पिचें आम तौर पर दो दिन के बाद बल्लेबाजी के लिए अच्छी होती है। ऐसे में स्पिनरों की भूमिका अहम होगी क्योंकि अश्विन और जडेजा दोनों विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं।' 

.
.
.
.
.