Sports

मेलबर्न: आस्ट्रेलियाई महान स्पिनर शेन वार्न को 2008 में आईपीएल के शुरूआती चरण में इसकी फ्रेंचाइजी राजस्थान रायल्स में मामूली सी हिस्सेदारी दी गई थी जो आगामी दिनों में उन्हें अच्छा मुनाफा करा सकती है। ‘हेराल्ड सन' की रिपोर्ट के अनुसार वार्न को 667,000 डालर भुगतान के अलावा 2008 में संन्यास से वापसी करने के बाद हर साल के लिये 0.75 प्रतिशत की हिस्सेदारी दी गयी। लेकिन अब यह हिस्सेदारी उनके ‘बैंक बैलेंस' में इजाफा कर सकती है। 

PunjabKesari
आस्ट्रेलियाई अखबार ‘हेराल्ड सन' ने वार्न के हवाले से लिखा, ‘‘यह मेरे करार का हिस्सा था क्योंकि मैं अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले चुका था और मैंने संन्यास से वापसी की थी, उन्होंने मुझे कप्तान और कोच बनने के लिये कहा। साथ ही मुझे कहा कि क्रिकेट टीम को वैसे चलाओ जैसे तुम चलाना चाहते हो। मैं सर्वेसर्वा था।'' वार्न टीम के कोच कम मेंटोर और ब्रांड दूत रहे हैं। उन्होंने शानदार तरीके से टीम की अगुआई की और 2008 के शुरूआती आईपीएल चरण में राजस्थान रायल्स को खिताब दिलाया। बल्कि मौजूदा भारतीय स्टार रविंद्र जडेजा उस समय प्रतिभाशाली ‘अनकैप' खिलाड़ी थे जिन्हें वार्न ने पूरा समर्थन किया और उन्हें ‘रॉकस्टार' करार किया था। 

वार्न ने आगे कहा, ‘‘हमें कोई भी खिताबी दौड़ में नहीं मान रहा था, हम सबसे कम दावेदार में शामिल थे, किसी ने भी हमें खिताब जीतने वाली टीम नहीं बताया था। यह आईपीएल में फ्रेंचाइजी क्रिकेट का पहला साल था जिसमें मालिकों ने खिलाड़ियों को खरीदा और खिलाड़ियों की नीलामी लगी थी।'' राजस्थान रायल्स फ्रेंचाइजी की कीमत इस समय 20 करोड़ डालर अमेरिकी डालर है और रिपोर्ट के अनुसार वार्न मानते हैं कि अगले दो वर्षों मे इसका मूल्य दोगुना हो जायेगा। उन्होंने कहा, ‘‘40 करोड़ डालर का तीन प्रतिशत अच्छा है।'' 

.
.
.
.
.