Sports

स्पोर्ट्स डेस्क: आज के दिन इंग्लैंड क्रिकेट टीम ने 27 साल बाद उसने अपनी मेजबानी में पहली बार विश्व चैंपियन बनने का सपना पूरा कर लिया था। लॉर्ड्स के मैदान पर धड़कनों को थाम देने वाले रोमांचक मुकाबले मेंं न्यूजीलैंड को सुपर ओवर में अंतिम गेंद पर पराजित कर दिया था। बता, दें फाइनल के सुपर ओवर में आर्चर को गेंद दी गई थी। जिसके बाद बेन स्टोक्स ने उनके पास आकर खास सलाह दी थी। 

PunjabKesari
दरअसल, आईसीसी ने आर्चर के हवाले से बताया था कि 'मैं सबसे पहले मोर्गन के पास गया। मुझे पता था कि मैं क्या करने जा रहा हूं। लेकिन मैं यह सुनिश्चित करना चाहता था कि वे मुझसे क्या चाहते हैं. मैं समझता हूं कि छक्का लगने तक सबकुछ सही जा रहा था और फिर स्टोक्स ने मुझे ओवर डालने से पहले ही कहा था कि जीत मिले या हार, आज का मैच तुम्हें परिभाषित नहीं करता है। सभी को तुम पर भरोसा है।' 

PunjabKesari
आर्चर
ने आगे कहा, कोलकाता में जो कुछ हुआ था, उसकी वजह से शायद वह मुझसे बात करने आए। शायद उन्होंने भी वही महसूस किया हेगा, लेकिन वह मैच हार गए थे। अगर आज हम हार गए होते तो मुझे पता नहीं कि मैं कल क्या करता। अगर हम हार जाते तो अगले साल होने वाले टी-20 विश्व कप में हमारे पास एक और मौका होता। 
 


27 साल बाद इंग्लैंड का सपना हुआ पूरा
PunjabKesari
इंग्लैंड 1979, 1987 और 1992 का फाइनल हारा था लेकिन 27 साल बाद उसने अपनी मेजबानी में पहली बार विश्व चैंपियन बनने का सपना पूरा कर लिया। न्यूजीलैंड को दिल तोडऩे वाली इस हार के बाद लगातार दूसरी बार उपविजेता रहकर संतोष करना पड़ा। उसका पहली बार खिताब जीतने का सपना सुपर ओवर में टूट गया।  न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियम्सन को प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट और फाइनल में इंग्लैंड के लिए 98 गेंदों पर पांच चौकों और दो छक्कों की मदद से अविजित 84 रन की पारी खेलने वाले बेन स्टोक्स को मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार मिला। 

 

 

.
.
.
.
.