Sports

न्यूयॉर्क : एम्मा रादुकानू और लीलह फर्नाडीज ने अपना चमत्कारिक प्रदर्शन जारी रखते हुए यू.एस. ओपन टैनिस टूर्नामैंट के फाइनल में प्रवेश करके सुनिश्चित कर दिया कि वर्ष के इस आखिरी ग्रैंडस्लैम को महिला एकल में नई चैम्पियन मिलेगी। अब ये दोनों शनिवार को आर्थर ऐस स्टेडियम में खिताब के लिए आमने-सामने होंगी। दोनों किशोरी हैं। यू.एस. ओपन में गैरवरीयता प्राप्त हैं।
रादुकानू-फर्नाडीज का फाइनल का सफर

रादुकानू ने सैमीफाइनल में यूनान की 17वीं वरीयता प्राप्त सकारी को 6-1, 6-4 से पराजित किया।
फर्नाडीज ने दूसरी वरीयता प्राप्त आर्यना सबालेंका को 7-6 (3), 4-6, 6-4 से हराया। 

इसलिए खास : यू.एस. ओपन में 1999 के बाद यह पहला अवसर है जबकि दो किशोरी फाइनल में खेलेंगी। तब 17 साल की सेरेना विलियम्स ने 18 साल की मार्टिना हिंगिस को हराया था।

विमान का टिकट करवा चुकी थी रादुकानू 

US Open, unseeded champion, women category, एम्मा रादुकानू और लीलह फर्नाडीज, Emma raducanu vs Leylah Annie Fernandez, raducanu vs Fernandez, Tennis news in hindi, sports news
रादुकानू पेशेवर युग में ग्रैंडस्लैम फाइनल में पहुंचने वाली पहली क्वालीफायर है। रादुकानू ने टूर्नामैंट में अपने सभी 18 सैट जीते हैं। रादुकानू को तो मुख्य ड्रा में पहुंचने की भी उम्मीद नहीं थी और उन्होंने अपने लिए विमान का टिकट भी खरीद रखा था ताकि उन्हें क्वालीफाइंग के बाद न्यूयार्क में न रुकना पड़े, लेकिन अब वह फाइनल में हैं जिस पर उन्हें विश्वास नहीं हो रहा है। 

नाओमी ओसाका को हरा चुकी हैं फर्नाडीज

US Open, unseeded champion, women category, एम्मा रादुकानू और लीलह फर्नाडीज, Emma raducanu vs Leylah Annie Fernandez, raducanu vs Fernandez, Tennis news in hindi, sports news
फर्नाडीज ने हर मैच में जीत का जज्बा दिखाया। विश्व में 73वीं रैंकिंग की फर्नाडीज ने वरीयता प्राप्त खिलाडिय़ों के खिलाफ लगातार में तीन सैटों में जीत दर्ज की। उन्होंने 2018 और 2020 की चैम्पियन नाओमी ओसाका, 2016 की चैम्पियन 16वीं वरीय एंजेलिक कर्बर तथा फिर पांचवीं वरीयता प्राप्त इलिना स्वितोलिना और अब सबालेंका को हराया।

दोनों में हैं समानताएं 
ब्रिटेन की 18 वर्षीय क्वालीफायर रादुकानू और कनाडा की 19 वर्षीय गैरवरीयता प्राप्त फर्नाडीज में कई समानताएं हैं। वे तेज और चपल हैं। वे मुश्किल शॉट को भी आसानी से दूसरे पार पहुंचाने में निपुण हैं। वे अपनी अधिक मशहूर और अनुभवी प्रतिद्वंद्वियों की परवाह नहीं करती हैं। यू.एस. ओपन में दर्शकों का उन्हें अपार समर्थन मिल रहा है और वे पहली बार किसी ग्रैंडस्लैम के फाइनल में पहुंची हैं।

.
.
.
.
.