Sports

लखनऊ : बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेलों में देश का गौरव बढ़ाने वाले राज्य के खिलाडिय़ों को नकद पुरस्कारों और अन्य सुविधाओं से सम्मानित किया जाएगा। इसके तहत स्वर्ण पदक जीतने वाले खिलाड़ी को एक करोड़ रुपए, रजत पदक विजेता को 75 लाख रुपए और कांस्य पदक जीतने वाले को 50 लाख रुपए का नकद ईनाम दिया जाएगा। साथ ही, सभी पदकवीरों को राजपत्रित अधिकारी का पद भी दिया जाएगा। उत्तर प्रदेश सरकार खिलाडिय़ों का सम्मान समारोह सितंबर माह के प्रथम सप्ताह में राजधानी में करेगी।

 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को ट्वीट कर कहा- उत्तर प्रदेश सरकार राष्ट्रमंडल खेलों में पदक प्राप्त करने वाले और भाग लेने वाले हर खिलाड़ी को सम्मानित करेगी। राज्य सरकार पदक जीतने वाले प्रदेश के खिलाडिय़ों को अपनी खेल नीति के अनुसार अतिरिक्त सम्मान और नौकरी भी प्रदान करेगी।

अपर मुख्य सचिव (सूचना) नवनीत सहगल ने बताया- बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेलों में उत्तर प्रदेश के आठ खिलाडिय़ों ने देश के लिए पदक जीतकर न सिर्फ देश का बल्कि प्रदेश का भी गौरव बढ़ाया है। इन सभी पदकवीरों को उत्तर प्रदेश सरकार पूर्व निर्धारित नकद इनाम व अन्य सुविधाओं से सम्मानित करेगी। सहगल ने बताया कि खिलाडिय़ों की उपलब्धता को मददेनजर रखते हुए सम्मान समारोह का आयोजन सितंबर माह के पहले सप्ताह में राजधानी में किया जाएगा।

 

उत्तर प्रदेश से प्रियंका गोस्वामी (पैदलचाल), दीप्ति शर्मा (क्रिकेट), मेघना सिंह (क्रिकेट), ललित उपाध्याय (हॉकी), विजय यादव (जूडो), दिव्या काकरान (कुश्ती), अन्नु रानी (भालाफेंक), वंदना कटारिया (हॉकी) ने पदक जीते हैं। पदक विजेताओं के अलावा राष्ट्रमंडल खेलों में भाग लेने वाले अन्य 5 खिलाडिय़ों को भागीदारी राशि के तौर पर 5-5 लाख रुपए प्रदान किए जाएंगे। इनमें चक्का फेंक खिलाड़ी सीमा पूनिया, भारोत्तोलक पूनम यादव एवं पूर्णिमा यादव, भाला फेंक खिलाड़ी रोहित यादव और हैमर थ्रो खिलाड़ी सरिता यादव शामिल हैं।

.
.
.
.
.