T20-world-cup-2021
Sports

भुवनेश्वर : भारतीय कप्तान विवेक सागर प्रसाद का मानना है कि 24 नवंबर से शुरू हो रहे एफआईएच जूनियर हॉकी विश्व कप में एकता और आपसी तालमेल उनकी टीम की सबसे बड़ी ताकत होगी। प्रसाद ने कहा, ‘जूनियर टीम ने 2018 और 2019 में अच्छा प्रदर्शन किया लेकिन 2020 में कोरोना महामारी के कारण हमारे लिए भी समय कठिन था।' उन्होंने कहा, ‘इसके बावजूद खिलाड़ियों ने साथ में अभ्यास किया और लक्ष्य यह खिताब फिर जीतना है। हमारे बीच एकता और आपसी तालमेल बेहतर हुआ है। टीम का ढांचा भी सुधरा है।' 

लखनऊ में 2016 में खिताब जीतने वाली भारतीय टीम पहले दिन फ्रांस से खेलेगी। टोक्यो ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने वाली भारतीय टीम के सदस्य रहे प्रसाद ने कहा कि मनिंदर सिंह, राहुल राजबर और संजय उनके प्रमुख खिलाड़ी होंगे। प्रसाद ने 2017 में पहली बार भारतीय पुरूष जूनियर टीम की कमान मलेशिया में सुल्तान जोहोर कप में संभाली थी जहां भारत तीसरे स्थान पर रहा। उन्हें टूर्नामेंट का सर्वश्रेष्ठ युवा खिलाड़ी चुना गया था। वह 2018 में भारत की सीनियर टीम में शामिल हुए। 

उन्होंने कहा, ‘2013 में मध्यप्रदेश के इटारसी में मेरे गांव में एक छोटे से टूर्नामेंट के दौरान अशोक ध्यानचंद मुख्य अतिथि थे। उन्होंने मुझे अकादमी में खेलने का मौका दिया। मुझे विश्वास ही नहीं हुआ। उसके दो साल बाद भारतीय जूनियर टीम के शिविर में मेरा चयन हुआ लेकिन मैं कोर ग्रुप में जगह नहीं बना सका। उसके बाद मेरी कॉलर बोन में फ्रेक्चर हुआ और मैं पांच महीने खेल नहीं सका। लौटने पर फिर चोट लगी और डॉक्टरों ने कहा कि रिकवर नहीं कर सकूंगा।' उन्होंने कहा, ‘मैने रिकवरी पर फोकस रखा और उस समय परिवार तथा दोस्तों ने काफी मदद की।' 

.
.
.
.
.