Sports

नई दिल्ली : पूर्व भारतीय स्पिनर अमित मिश्रा ने भारतीय टीम के लगातार अच्छे प्रदर्शन की सराहना करते हुए कहा कि विराट कोहली की टीम में किसी चीज की कमी नहीं है और युवा खिलाड़ियों के अनुभव हासिल करने के साथ टीम इंडिया और मजबूत होगी। मिश्रा ने कहा कि भारतीय टीम अभी संतुलित है और उसके पास अच्छे स्पिनर, तेज गेंदबाज और बल्लेबाज मौजूद हैं। उन्होंने कहा कि टीम में लगातार युवा खिलाड़ी आ रहे हैं और इनके अनुभव हासिल करने के साथ टीम बेहतर होगी। 

मिश्रा ने यहां एयरटेल दिल्ली हाफ मैराथन के 15वें सत्र की तारीख की घोषणा के लिए आयोजित कार्यक्रम के इतर कहा, ‘मुझे नहीं लगता कि भारतीय टीम को किसी चीज की कमी खल रही है। हमारे पास अच्छे स्पिनर हैं, अच्छे तेज गेंदबाज हैं और मध्यक्रम भी अच्छा कर रहा है। ऐसा होता है कि कभी आप किसी को मौका देते हैं तो वह रन बनाता है और कभी नहीं बनाता।' इस लेग स्पिनर ने कहा, ‘टीम में काफी युवा खिलाड़ी आए हैं और वे जैसे-जैसे खेलते रहेंगे और उन्हें अनुभव मिलेगा तो यह भारतीय टीम के लिए और अच्छा होगा। हमारे पास काफी प्रतिभावान युवा खिलाड़ी आ रहे हैं जिससे हमें आगे कोई समस्या नहीं होनी चाहिए। अभी जो थोड़ी समस्या नजर आती है वह अनुभव की कमी है और अनुभव मिलने के साथ यह समस्या भी ठीक हो जाएगी।' वेस्टइंडीज के खिलाफ मौजूदा टी20 श्रृंखला में प्रभावी पदार्पण करने वाले तेज गेंदबाज नवदीप सैनी की भी मिश्रा ने तारीफ करते हुए कहा कि भारत को उनके जैसे चार-पांच और गेंदबाजों की जरूरत है। 

मिश्रात ने कहा, ‘वह अच्छा प्रतिभावान गेंदबाज है और उसे निखारने की जरूरत है। उसका पदार्पण काफी अच्छा रहा। वह पिछले एक-डेढ़ साल से अच्छा प्रदर्शन कर रहा है। आईपीएल में भी उसने अच्छा किया और अब जब उसे मौका मिला तो उसने इसका फायदा उठाया। मैं चाहूंगा कि आने वाले समय में ऐसे चार-पांच गेंदबाज और आएं जिससे कि हमारे पास हमेशा तेज गेंदबाजी में विकल्प रहे।' भारतीय टीम के गेंदबाजी कोच के लिए भारत के बायें हाथ के पूर्व स्पिनर सुनील जोशी ने भी आवेदन किया है और मिश्रा से जब यह पूछा गया कि क्या टीम को स्पिन गेंदबाजी कोच की जरूरत है तो उन्होंने कहा कि यह फैसला टीम प्रबंधन और खिलाड़ियों को करना है। 

इंडियन प्रीमियर लीग में दिल्ली कैपिटल्स की ओर से खेलने वाले मिश्रा ने कहा, ‘यह फैसला टीम प्रबंधन को करना है (स्पिन गेंदबाजी कोच पर)। टीम प्रबंधन और सीनियर खिलाड़ियों से पूछना होगा कि क्या उन्हें ऐसी जरूरत है, अगर उन्हें जरूरत महसूस होती है तो हमारे पास कोचों की कोई कमी नहीं है और कई अच्छे कोच उपलब्ध हैं। भारत ने पिछले महीने ब्रिटेन में हुए विश्व कप के लिए कलाई के स्पिनरों पर काफी भरोसा किया था लेकिन वे उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर पाए। 

मिश्रा का हालांकि मानना है कि भारत के कलाई के स्पिनरों कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल का प्रदर्शन बुरा नहीं था और परिस्थितियों के अनुसार गेंदबाज का प्रदर्शन प्रभावित होता रहता है। उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि परिस्थितयों से थोड़ा फर्क पड़ता है। कई बार परिस्थितियां ऐसी होती हैं कि स्पिनर को उतनी मदद नहीं मिलती। स्पिनरों ने हालांकि ठीक ठाक प्रदर्शन किया है। स्पिनरों ने इतना खराब प्रदर्शन भी नहीं किया। इंग्लैंड के हालात ही ऐसे हैं, कई बार तेज गेंदबाजों को काफी मदद मिलती है, इसकी वजह से हो सकता है कि एक-दो मैचों में स्पिनरों ने अच्छा प्रदर्शन नहीं किया हो। मिश्रा ने कहा कि बड़े टूर्नामेंटों के लिए भारत की तैयारी अच्छी चल रही है। उन्होंने कहा, ‘हमारी तैयारियां जारी हैं, चाहे 50 ओवर का विश्व कप हो या टी20 विश्व कप हमारी तैयारियां चल रही हैं। कई युवा खिलाड़ी आ रहे हैं, सभी को मौके दिए जा रहे हैं और विश्व कप से पहले जो भी सर्वश्रेष्ठ टीम बनेगी वो आपके सामने होगी।' 

.
.
.
.
.