Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : ऑस्ट्रेलिया ने न्यूजीलैंड को 8 विकेट से हराकर आईसीसी टी20 विश्व कप का खिताब अपने नाम किया। इस दौरान टॉप ने एक बार फिर अहम भूमिका निभाई। इस पूरे टूर्नामेंट में 45 मैचों में से 29 में दूसरे स्थान पर बल्लेबाजी करने वाली टीम विजयी हुई है। सभी 3 नॉकआउट मैच (2 सेमीफ़ाइनल और फाइनल) लक्ष्य का पीछा करने वाली टीम ने जीते हैं। इस पर भारतीय क्रिकेट के दिग्गज सुनील गावस्कर को लगता है कि आईसीसी को इस तथ्य पर गौर करने की जरूरत है कि इतने सारे मैच लक्ष्य का पीछा करते हुए जीते गए। 

गावस्कर ने एक मीडिया हाउस से बातचीत में कहा, कमेंटेटर कह रहे थे कि ओस आज कारक नहीं था इसलिए मुझे नहीं लगता कि वास्तव में इस मैच में इतना फर्क आया, लेकिन मुझे लगता है कि पिछले मैचों में शायद यह कुछ ऐसा है जिस पर ध्यान देने की आवश्यकता है। मुझे लगता है कि आईसीसी क्रिकेट समिति के लिए यह कुछ ऐसा है कि वह अपना ध्यान दें और सुनिश्चित करें कि दोनों टीमों के लिए एक समान खेल का मैदान हो। 

मिशेल मार्श द्वारा खेली गई असाधारण पारी पर इस दिग्गज खिलाड़ी ने कहा कि मुझे लगता है कि मिशेल मार्श ने एक असाधारण पारी खेली, डेविड वार्नर पिछले कुछ मैचों से अच्छा खेल रहे हैं। न्यूजीलैंड आरोन फिंच से ज्यादा विकेट्स पाना चाहते थे, लेकिन ऐसा हुआ नहीं। उन्होंने शेष छह (7) गेंदें रहते जीत हासिल कर ली। क्रीज पर मैक्सवेल और मार्श वे गेंदें 20 रन तक भी जा सकती थीं। 

.
.
.
.
.