Sports

दोहा : करिश्माई खिलाड़ी सुनील छेत्री के दो गोल के दम पर भारत ने बांग्लादेश को 2-0 से हराकर फीफा विश्व कप 2022 एवं एशियाई कप 2023 की संयुक्त क्वालीफायर्स में सोमवार को यहां पहली जीत दर्ज की। फीफा विश्व कप क्वालीफायर्स में छह साल में यह टीम की पहली जीत है। घरेलू मैदान से बाहर विश्व कप क्वालीफायर्स में भारतीय टीम ने 20 साल के बाद कोई जीत दर्ज की है। इस जीत से भारतीय टीम की एशियाई क्वालीफायर के तीसरे दौर में सीधे क्वालीफाई करने की उम्मीदें बढ़ गई हैं।

ग्रुप तालिका में शीर्ष तीन स्थानों पर रहने वाली टीमें सीधे तौर पर एशियाई कप क्वालीफायर के तीसरे दौर लिए क्वालीफाई करेगी। टीम हालांकि विश्व कप 2022 के लिए क्वालीफाई करने की दौड़ से पहले ही बाहर हो गयी है। छेत्री ने 79वें मिनट में गोलकर टीम का खाता खोलने के बाद आखिरी क्षणों (90+2 मिनट) में एक और गोलकर ग्रुप ई के इस मैच में टीम की 2-0 से जीत सुनिश्चित कर दी।

मैच के दूसरे हाफ में मैदान में उतरे आशिक कुरुनियन के क्रॉस को छेत्री ने हेडर से शानदार कोण बनाते हुए गोल में बदल दिया, जिससे भारतीय कोच इगोर स्टिमक ने राहत की सांस ली। यहां अल साद स्टेडियम में छेत्री यहीं नहीं रूके उन्होंने आखिरी क्षणों में सुरेश सिंह के पास को शानदार तरीके से गोल पोस्ट में पहुंचाकर अपना 74वां अंतरराष्ट्रीय गोल दागा और भारतीय टीम के लिए तीन अंक सुनिश्चित किए।

मैच में शुरू से ही भारतीय टीम का दबदबा था लेकिन एक गोल से पिछडऩे के बाद बांग्लादेश के खिलाडिय़ों ने जवाबी हमला किया। बांग्लादेश की टीम बराबरी का गोल तो नहीं कर सकी लेकिन इससे भारत को बढ़त बनाने का मौका मिला जिसका छेत्री ने पूरा फायदा उठाया।

अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल में सक्रिय खिलाडिय़ों में पुर्तगाल के क्रिस्टियानो रोनाल्डो के बाद छेत्री के नाम सबसे ज्यादा गोल है। इस जीत के साथ भारतीय टीम के छह मैच में सात अंक हो गए हैं और वह ग्रुप तालिका में तीसरे स्थान पर पहुंच गया है। टीम के खाते में इस जीत के अलावा तीन हार और तीन ड्रॉ शामिल हैं। भारत को अब 15 जून को अफगानिस्तान के खिलाफ अपना आखिरी लीग मैच खेलना है।

.
.
.
.
.