Sports

नई दिल्ली : टीम इंडिया को ऐतिहासिक मैच में जीत दिलाने के चलते दीपक चाहर प्लेयर ऑफ द मैच बने। उन्होंने मैच के बाद कहा कि जब हम गेंदबाजी कर रहे थे। तब कुछ ड्रॉप कैच के कारण दिक्कत आई। लेकिन फिर सब बढिय़ा हुआ। मुझे दो विकेट भी मिले। हमने उन्हें 270 के स्कोर पर रोक दिया जोकि चेज करने के लिए एक अच्छा स्कोर था। जब मैं बल्लेबाजी के लिए आया तो मेरे दिमाग में केवल एक ही बात चल रही थी। और जब आप क्रिकेट खेलना शुरू करते हैं और भारत के लिए खेलते हैं तो आप इस तरह का सपना देखते हैं। देश के लिए मैच जीतने का इससे बेहतर तरीका नहीं हो सकता।

दीपक ने कहा कि राहुल सर ने मुझे सभी गेंदें खेलने को कहा। मैंने भारत ए के लिए कुछ पारियां खेली हैं और उन्हें मुझ पर विश्वास है और हमेशा मुझ पर विश्वास करते हैं और यह गेम चेंजर था। हमारे पास शानदार बल्लेबाजी क्रम है और उम्मीद है कि मुझे अगले मैचों में बल्लेबाजी करने का मौका नहीं मिलेगा। ऐसी स्थिति में मेरे लिए यह पहली बार है। हम गेंद दर गेंद खेल रहे थे और जब यह 50 के नीचे आ गया तो मैंने बाउंड्री मारने का फैसला किया और उस छक्के के बाद इसने मुझे गति दी।

बता दें कि दीपक के कारण भारतीय टीम श्रीलंका के खिलाफ अपनी 93वीं जीत हासिल करने में सफल रही। यह किसी वनडे टीम के खिलाफ भारत का सर्वश्रेष्ठ और ओवरऑल प्रदर्शन है। दीपक ने 82 गेंदों में सात चौके और एक छक्के की मदद से 69 रन बनाए। वहीं, उनके साथ भुवनेश्वर कुमार ने 28 गेंदों में 2 चौकों की मदद से 19 रन बनाकर टीम को जीत की दहलीज तक पहुंचा दिया।

.
.
.
.
.