Sports

जालन्धर: पाकिस्तान टीम के अहम प्लेयर शोएब मलिक ने आखिरकार क्रिकेट वल्र्ड कप से संन्यास ले लिया। बांगलादेश के खिलाफ मैच में शोएब प्लेइंग-11 में जगह नहीं बना पाए थे। लेकिन उनकी टीम ने मैच जीतकर उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया। पाकिस्तान के लिए करीब 20 साल तक क्रिकेट खेलने वाले शोएब के लिए क्रिकेट विश्व कप अच्छा नहीं गया था। इसी कारण उन्हें प्लेइंग-11 से भी हटा दिया गया था।

Shoaib Malik announces retirement from international cricket

शोएब मलिक का करियर शानदार रहा है। उन्होंने वनडे क्रिकेट में 14 अक्तूबर 1999 को वैस्टइंडीज के खिलाफ डैब्यू किया था। उनके नाम 287 मैचों मेें 7534 रन है। जिसमें 9 शतक और 44 अर्धशतक भी दर्ज हैं।

जबकि टेस्ट क्रिकेट में शोएब 35 मैच खेलकर 1898 रन बना चुके हैं। उनके नाम 3 शतक और आठ अर्धशतक भी दर्ज हैं।

शोएब मलिक ने 111 टी-20 मैच भी खेले हैं जिनमें उनके नाम तीस की औसत से 2263 रन दर्ज हैं। शोएब के नाम पर सात फिफ्टी भी दर्ज हैं।

इसी तरह घरेलू टी-20 में भी शोएब ने कई रिकॉर्ड तोड़े हैं। उनके नाम 345 मैचों में 8701 रन दर्ज हैं। जिसमें 51 फिफ्टी भी शामिल हैं।

मलिक ने कहा कि उन्हें निराशा है कि उनका करियर निम्न स्तर पर खत्म हो रहा है। उन्होंने कहा, ‘‘ एक सीनियर खिलाड़ी के रूप में मैं अपनी टीम को विश्व कप जीतने में मदद करना चाहता था, लेकिन कई बार चीजें आपके मुताबिक नहीं होती हैं और यह क्रिकेट का हिस्सा है।'' मलिक ने कहा, ‘‘मैंने कभी नहीं सोचा था कि पाकिस्तान के लिए 20 साल खेलूंगा लेकिन जब आप कड़ी मेहनत और ईमानदारी के साथ खेलते हैं तो आप सबसे अच्छा हासिल करते हैं और मेरे साथ यही हुआ।'' उन्होंने कहा, ‘‘ मैं अपने वनडे करियर से संतुष्ट हूं और चैंपियंस ट्रॉफी जीतना मेरे वनडे करियर का मुख्य आकर्षण रहा है।'' पाकिस्तान ने 2017 में इंग्लैंड में ही चैम्पियन्स ट्राफी का खिताब जीता था।

Shoaib Malik announces retirement from international cricket

शोएब मैच तो नहीं खेले लेकिन उनकी टीम ने उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर जरूर दिया।

 

.
.
.
.
.